फरीदाबाद कांग्रेस के भीष्म पितामह बी. आर. ओझा का निधन


फरीदाबाद। एएनएन (Action News Network)

जिला कांग्रेस पार्टी के लगातार कई दशकों तक जिलाध्यक्ष रहे और फरीदाबाद कांग्रेस के भीष्म पितामह कहे जाने वाले बीआर ओझा का सोमवार की सुबह निधन हो गया। वह करीब 85 साल के थे और उन्होंने आज सुबह फरीदाबाद के फोर्टिस एस्कार्ट अस्पताल में अंतिम सांस ली।

ओझा की रविवार को तबीयत खराब होने के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनके निधन से शोक की लहर दौड़ गई है। कांग्रेस ही नहीं, उनके अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं से भी पारिवारिक रिश्ते थे। उन्होंने दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सामाजिक क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य किए हैं।

सोमवार को उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए उनके सेक्टर-19 स्थित निवास पर लोगों का तांता लग गया।बी.आर. ओझा ने पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु, श्रीमती इंदिरा गांधी, राजीव गांधी, नरसिम्हा राव के साथ-साथ श्रीमती सोनिया गांधी के साथ उन्होंने लगातार पार्टी में सक्रिय रूप से काम किया।

वे पूर्व मुख्यमंत्री स्व. भजनलाल व बंसीलाल के खासमखास माने जाते थे। मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष कुमारी सैलजा के पिता चौधरी दलवीर सिंह के साथ भी वह पार्टी के जिलाध्यक्ष रहे। ओझा पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी भूपेंद्र सिंह हुड्डा के पिता रणवीर हुड्डा को अपना राजनीतिक गुरु मानते थे।

उन्होंने कभी जात-बिरादरी में विश्वास नहीं किया। वह लगातार 50 साल पुरानी ओल्ड फरीदाबाद वाली मस्जिद के प्रधान भी रहे। ओझा के निधन पर सभी राजनीतिक दलों, सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों ने गहरा शोक व्यक्त किया है और उनके निधन को फरीदाबाद शहर के लिए अपूरणीय क्षति बताया है।