झूठ वादे कर जनता को गुमराह कर रहे केजरीवाल : प्रवेश वर्मा

नई दिल्ली। एएनएन (Action News Network)

भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल झूठे वादे कर दिल्ली की जनता को गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 2015 में आम आदमी पार्टी (आप) ने विधानसभा चुनाव के लिए 70 वादों वाला घोषणा पत्र जारी किया था। पिछले पांच वर्षों में केजरीवाल सरकार ने जो 70 वादे किए थे वो तो पूरे नहीं किए, लेकिन 70 नेताओं को पार्टी से जरूर बाहर कर दिया है।

पश्चिमी दिल्ली के सांसद प्रवेश वर्मा ने सोमवार को भाजपा कार्यालय में पत्रकार वार्ता में कहा कि केजरीवाल ने पिछले चुनाव में 70 वादे किए थे। उन वादों में दिल्ली का अपना पॉवर स्टेशन बनाने की बात भी कही गयी थी, लेकिन आज तक उसका कहीं जिक्र भी नहीं है। सोलर सिटी का वादा किया था वो भी कहीं नहीं दिखाई दे रहा।

यहां तक दिल्ली की सरकारी इमारतों पर भी कहीं सोलर पैनल नहीं है। वर्मा ने कहा कि 70 वादों में दिल्ली के अंदर सूखे तालाबों को पुनर्जीवित करने का वाद भी शामिल था, लेकिन उसका भी कुछ अता-पता नहीं है। केंद्र सरकार ने दिल्ली में सार्वजनिक शौचालय बनाने के लिए धनराशि आवंटित किया था। उसको भी केजरीवाल ने नहीं बनाया, जबकि उसकी राशि आज भी दिल्ली सरकार ने खाते में पड़ी हुई है।

दिल्ली सरकार ने वेस्ट मैनेजमेंट की तकनीकी लाने और 500 नए स्कूल खोलने का वाद किया था। जिसको यह सरकार आज तक पूरा नहीं कर पायी है। उन्होंने कहा कि मौजूदा दिल्ली के परिवहन हालात को देखते हुए पांच हजार बसों की आवश्यकता है। केजरीवाल ने मात्र 300 नई बसें ही खरीदी हैं। इसकी वजह से दिल्ली के लोगों को बार्डर तक बसें नहीं मिल रही हैं। 14 लाख सीसीटीवी कैमरे लगाने का वाद किया था, जिमसें 40 या 50 हजार सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। उनमें भी कुछ बंद पड़े हैं।  

वर्मा ने कहा कि दिल्ली में भाजपा के सातों सांसद जब भी प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात करते हैं तो उनके सामाने दिल्ली की समस्याओं को उठाते हैं। उसका परिमाण यह रहा कि केंद्र सरकार दिल्ली के अंदर कई योजना लेकर आई। द्वारका में लोगों को पानी की समस्या से निजात दिलाने के लिए पाइप लाइन का काम मैंने करवाया। मुख्यमंत्री बनते ही तीन दिन के अंदर केजरीवाल उसका उद्घाटन करने पहुंच गए। ऐसा कैसे हो सकता है कि कोई मुख्यमंत्री बने और तीन दिन बाद काम का उद्वाटन करने लगे। 

सांसद वर्मा ने कहा कि आज मुझे बड़ा खुद होता है कि केजरीवाल के टाउन हॉल के कार्यक्रम का बड़े-बड़े चैनल आयोजन करा रहे हैं। दिल्ली विधानसभा चुनाव में आज आप और उसके मुखिया विकास के नाम पर चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। वर्मा ने दिल्ली की जनता से अपील की कि अगर केजरीवाल सरकार ने पिछले पांच वर्षों में कोई नया काम किया है तो वोट देना अन्यथा नहीं।