अमित शाह ने फिर कहा-बिहार में JDU-BJP का गठबंधन अटूट, नीतीश ही नेता

पटना । CAA, NRC के पक्ष में लोगों को जागरूक करने देश के गृहमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह दुनिया के पहले लोकतंत्र लिच्छिवी गणतंत्र की राजधानी रही वैशाली पहुंचे और विशाल जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने दो टूक कहा कि बिहार में भाजपा-जदयू का गठबंधन अटूट है और बिहार में नीतीश के नेतृत्व में ही विधानसभा चुनाव लड़ा जाएगा।

अमित शाह ने बयानबाजी देने वाले नेताओं से धमकी भरे लहजे में कहा कि जो लोग गठबंधन और एनडीए के नेता को लेकर भ्रम फैला रहे हैं, उनसे मैं साफ कह देना चाहता हूं कि इसमें कहीं कोई संशय नहीं है। इसे लेकर कुछ कहने या सुनने की जरूरत नहीं है। 

शाह ने मुख्यमंत्री की तारीफ करते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने जंगलराज से बिहार को मुक्त किया। उन्होंने कहा कि अब बिहार में कोई हमारे गठबंधन में सेंधमारी नहीं कर पाएगा।

उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NRC) के बारे में बताते हुए कहा कि ये कानून लोगों के हित के लिए है और तमाम विपक्षी पार्टियां इसे लेकर भ्रम फैला रहे हैं, इसे लोगों को समझना चाहिए। अमित शाह ने कांग्रेस के राहुल गांधी, राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बैनर्जी और दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल पर जमकर निशाना साधा। 

अमित शाह की एजेंसी पांचवी जनसभा

विदित हो कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में शामिल जनता दल यूनाइटेड (JDU) सुप्रीमो व बिहार के मुख्‍यमंत्री (Chief Minister) नीतीश कुमार (Nitish Kumar) एनआरसी के खिलाफ हैं। उन्‍होंने राज्‍य में इसे लागू नहीं करने की घोषणा की है।

दूसरी ओर बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह सीएए व एनआरसी के समर्थन में देशभर में घूमकर लोगों को इसकी बारीकियों से अवगत करा रहे हैं। इसके पहले वे दिल्ली, जोधपुर, गांधीनगर और जबलपुर में जनसभाएं कर चुके हैं। वैशाली में आज की जनसभा अमित शाह की ऐसी पांचवी जनसभा थी।

जनसभा को ले भगवामय हुई वैशाली

वैशाली की जनता गृह मंत्री अमित शाह के स्वागत को आतुर दिखी। शाह की हुंकार की सोचकर ही बीजेपी समर्थक रोमांचित हो रहे थे। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री (Minister of State Home) नित्यानंद राय (Nityanand Rai) की मेजबानी में पहली बार बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह वैशाली आए थे। पार्टी ने गृह मंत्री की अगवानी में समाजवादियों की धरती (Land of Socialists) को केसरिया झंडा, होर्डिंग और बैनर से पाट भगवामय बना दिया था।

विरोधियों के खिलाफ बनाई रणनीति

दरअसल, सीएए व एनआरसी का विरोध करने वाले राजनीतिक दलों और संगठनों को जवाब देने के लिए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) और बीजेपी ने रणनीति बनाई। इसी कड़ी में सरकार के मंत्री और पार्टी के आला नेता देशभर में जनसभाएं कर जनता को नए कानून की बारीकियों से रूबरू करा रहे हैं। इसी सिलसिले में अमित शाह वैशाली पहुंचे।

भविष्य के लिए करेंगे खबरदार

वैशाली में अमित शाह की जनसभा को लेकर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने बताया कि राष्ट्रविरोधी ताकतों (Anti National Elements) को अमित शाह आईना दिखाएंगे और भविष्य के लिए खबरदार करेंगे।

जनसभा में भारी जुटान 

अमित शाह को सुनने के लिए वैशाली के इर्द-गिर्द के जिलों से भी भारी जुटान हुई। बीजेपी और सहयोगी संगठनों के कार्यकर्ताओं के साथ आम जनता भी सभा में पहुंची। जनसभा के प्रचार-प्रसार की गूंज दूर-दूर तक सुनाई दे रही थी।

हफ्ते भर से कैंप किए थे नित्यानंद राय

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय स्वयं हफ्ते भर से वैशाली में कैंप किए हुए थे। व्यवस्था चाक-चौबंद रहे, इसकी सख्त हिदायत दी गई थी। पुराने झंडों की जगह नए झंडे लगाए गए थे। बिहार बीजेपी के संगठन महामंत्री नागेंद्र नाथ अंतिम क्षणों की तैयारियों में जुटे रहे।