कांग्रेस का शगल बन गया है महापुरुषों का अपमान करना: शिवराज

भोपाल। एएनएन (Action News Network)

छिंदवाड़ा के सौंसर नगर में छत्रपति शिवाजी महाराज की मूर्ति को हटाने के बाद प्रदेश के दोनों प्रमुख राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। स्थानीय सांसद एवं सीएम कमलनाथ के पुत्र नकुलनाथ ने अपने खर्चे पर उसी स्थान पर मूर्ति स्थापना की घोषणा कर दी है, फिर भी बयानबाजी थमने का नाम नहीं ले रही है। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस का शगल बन गया है महापुरुषों का अपमान करना। इसीलिए आज मैं छिंदवाड़ा जिले के सौसर जा रहा हूं। 

शिवराज ने शनिवार को अपने निवासी पर मीडिया से बातचीत में कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज राष्ट्र के गौरव और हमारी प्रेरणा हैं। उन्होंने हिंदी स्वराज की स्थापना की। देश के करोड़ों करोड़ लोग उनको अपना आराध्य मानते हैं, लेकिन कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ऐसे राष्ट्रपुरूष शिवाजी महाराज का अपमान कर रही है। उनकी प्रतिमा को जेसीबी से अपमानजनक तरीके से हटाया गया। मैं सौंसर की जनता को प्रणाम करता हूं कि आधी रात के बाद लगभग 3.00 बजे जनता इक_ी हो गई और कहा कि यदि छत्रपति शिवाजी महाराज गिरेंगे तो हमारी छाती के ऊपर गिरेंगे। 

उन्होंने कहा कि महापुरुषों का अपमान करना कांग्रेस का शगल बन गया है। पहले भोपाल में चंद्रशेखर आजाद जी की प्रतिमा को हटाने का फैसला किया गया था। विरोध होने के बाद भी सरकार ने अपना फैसला नहीं बदला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस द्वारा वीर सावरकर का अपमान रोज किया जा रहा है। डॉक्टर अंबेडकर का अपमान भी कांग्रेस ने कई बार किया है। अब शिवाजी महाराज का अपमान किया गया, लेकिन यह हम कदापि नहीं होने देंगे।

बात की जा रही है कि हम अपने पैसों से प्रतिमा लगा देंगे। पैसों का अहंकार दिखाना, दंभ भरना, पहले प्रतिमा गिराना, यह दंभ और अहंकार हम सहन नहीं करेंगे। उन्होंने मांग करते हुए कहा है कि जिन्होंने छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा का अपमान किया है उनके खिलाफ कार्यवाही की जाए। तुम्हारे पैसे से वहां प्रतिमा क्यों लगेगी? सौंसर की जनता में सामथ्र्य है। राष्ट्रभक्त वहां अभी जिंदा है। छत्रपति शिवाजी महाराज के भक्त भी जिंदा है। जनभागीदारी से प्रतिमा लगेगी। इसीलिए आज में सौंसर जा रहा हूँ। कांग्रेस के इस दंभ को हम दूर करेंगे।