आरती के दौरान श्रद्धालुओं ने गंगा को स्वच्छ रखने का लिया संकल्प

बेगूसराय। एएनएन (Action News Network)

राजकीय कल्पवास मेला सिमरिया धाम में कुंभ सेवा समिति के तत्वावधान में प्रतिदिन होने वाले गंगा महाआरती का समापन मंगलवार की रात हो गया। इस मौके पर कुंभ स्मारिका का विमोचन किया गया। हजारों श्रद्धालुओं ने गंगा में दीपदान कर देव दीपावली भी मनाई और गंगा को स्वच्छ रखने का संकल्प लिया।

महाआरती के अंतिम दिन मुख्य यजमान व बिहार सरकार के श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि इस आदि कुंभ स्थली में कल्पवास के दौरान कुंभ सेवा समिति ने गंगा आरती का आयोजन की काशी जैसा नजारा उत्पन्न कर दिया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में हो रहे समग्र विकास के तहत सिमरिया गंगा धाम का भी विकास निश्चित है।

मौके पर सर्वमंगला के संस्थापक चिदात्मनजी महाराज ने कहा कि सिमरिया धाम में जानकी पौड़ी बनाने के लिए मिथिलावासियों ने पहल शुरू की है। उम्मीद है कि 2023 में होने वाले कुंभ से पहले यहां इसका निर्माण हो जाये।भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री विधान पार्षद रजनीश कुमार के संचालन में आयोजित समापन समारोह में बनारस के प्रकांड विद्वानों ने गंगा आरती करायी। इस मौके पर आर्यभट्ट कॉलेज की छात्राओं ने आकर्षक रंगोली बनायी।

इस मौके पर रविंद्रजी ब्रह्मचारी समेत अन्य ने तमाम श्रद्धालुओं को गंगा को स्वच्छ रखने संकल्प दिलाया। इस अवसर पर ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की कंचन बहन के नेतृत्व में झांकी प्रस्तुत की गयी। मौके पर कुंभ सेवा समिति के अध्यक्ष डॉ. नलिनी रंजन सिंह, उपाध्यक्ष सह जदयू जिलाध्यक्ष भूमिपाल राय, प्रो. अशोक कुमार सिंह अमर, आभा सिंह, डॉ. शशि भूषण, भाजपा नेता शुभम कुमार एवं बलराम सिंह आदि भी उपस्थित थे।