हर कोई चाहता है कि अयोध्या में राम मंदिर बनना चाहिए, मगर कांग्रेस केस नहीं चलने देती थी: अमित शाह

  • झारखंड में एक बार फिर से सत्ता में बीजेपी की वापसी के लिए अमित शाह ने खुद कमान कस ली, चुनाव प्रचार का किया शंखनाद
  • लातेहार में अमित शाह ने राम मंदिर का जिक्र कर कांग्रेस को घेरा और कहा कि कांग्रेस ने अयोध्या मामले में अड़चनें पैदा कीं
  • सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला दिया, अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ और वहां आसमान छूने वाला भव्य मंदिर बनेगा

लातेहारएएनएन (Action News Network)

झारखंड में शाह ने राम मंदिर का जिक्र कर कांग्रेस को घेरा। शाह ने कहा कि कांग्रेस ने अयोध्या मामले में अड़चनें पैदा कीं। अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला दिया है। कोर्ट के फैसले से अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ हो गया है और अब वहां आसमान छूने वाला भव्य मंदिर बनेगा।

शाह ने जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने के केंद्र सरकार के फैसले का जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी अपने वोट बैंक के लालच में मामले को 70 साल से लटकाए हुए थी, लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी ने भारत माता के मुकुटमणि पर लगे आर्टिकल 370 के कलंक को हटाकर कश्मीर के विकास के रास्ते खोल दिए हैं। फिर से पूर्ण बहुमत की सरकार बनने के बाद पहले ही सत्र के अंदर कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35A को हटाने का काम नरेंद्र मोदी जी की सरकार ने किया।

“इतने सालों से यह फैसला नहीं हो रहा था, हम भी चाहते थे कि संवैधानिक रूप से इस विवाद का रास्ता निकले और देखिये श्रीराम की कृपा सुप्रीम कोर्ट ने निर्णय कर दिया और उनके निर्णय से उसी स्थान पर भव्य राम मंदिर बनने का रास्ता खुल गया है।”

-अमित शाह

आदिवासियों को लुभाने की कोशिश
गृह मंत्री ने इसके अलावा रैली के दौरान आदिवासी वोटरों को भी लुभाने की कोशिश की। शाह ने केंद्र सरकार द्वारा आदिवासियों के लिए चलाई जा रही योजनाओं का जिक्र किया और कहा कि बीजेपी सरकार ने 5 साल में आदिवासियों का गौरव बढ़ाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार ने आदिवासियों के विकास के लिए डिस्ट्रिक्ट मिनरल फंड के तहत 32 हजार करोड़ रुपये दिए हैं।

आदिवासी भाइयों-बहनों के बच्चों की शिक्षा के लिए प्रधानमंत्री ने देश भर के हर आदिवासी ब्लॉक के अंदर एकलव्य स्कूल बनाएं। पांच साल के अंदर देश में 438 एकलव्य स्कूल बनाने का काम बीजेपी ने किया।

नक्सलवाद खत्म करने का दावा
शाह ने कहा कि आदिवासियों की शिक्षा के लिए भी बीजेपी ने अहम कदम उठाए हैं। इसके तहत पांच साल के अंदर देश भर में 438 एकलव्य स्कूल बनाने का काम किया गया। गृह मंत्री ने दावा किया कि बीजेपी की रघुबर दास सरकार ने पांच साल में प्रदेश से नक्सलवाद खत्म कर दिया। नक्सलवाद को समाप्त करने की दिशा में रघुबर दास सरकार ने ढेर सारे कदम उठाए हैं। इसी कारण आज झारखंड के कोने कोने में बिजली, सड़क, पीने का पानी और सिलेंडर आदि पहुंचे।

राम मंदिर को लेकर कांग्रेस पर तंज
अयोध्या विवाद पर बोलते हुए शाह ने कहा कि हर कोई चाहता है कि अयोध्या में राम मंदिर बने लेकिन कांग्रेस पार्टी केस ही नहीं चलने देती थी। इतने सालों से यह फैसला नहीं हो रहा था, हम भी चाहते थे कि संवैधानिक रूप से इस विवाद का रास्ता निकले और देखिये श्रीराम की कृपा से सुप्रीम कोर्ट ने निर्णय कर दिया और उनके निर्णय से उसी स्थान पर भव्य राम मंदिर बनने का रास्ता खुल गया है। देश के सर्वोच्च न्यायालय ने ऐतिहासिक फैसला करके सर्वानुमत से यह निर्णय दिया है कि अयोध्या में जहां श्रीराम का जन्म हुआ था, वहीं भव्य मंदिर बने।

यूपीए सरकार पर हमला
शाह ने रैली में केंद्र की पूर्ववर्ती कांग्रेसनीत यूपीए सरकार पर भी जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि सोनिया-मनमोहन सरकार ने 13वें वित्त आयोग में झारखंड के विकास के लिए 55 हजार 253 करोड़ रुपये दिए थे। वहीं, मोदी सरकार ने झारखंड के विकास के लिए 3 लाख 8 हजार 487 करोड़ रुपये देने का काम किया है। बीजेपी सरकार ने झारखंड राज्य आदिवासी संवर्द्धन सोसाइटी के तहत महिला किसान शक्ति के रूप में लेमनग्रास और तुलसी उपजाकर महिलाओं की आय में वृद्धि करने का काम किया।

‘अटल ने बनाया, मोदी संवारेंगे झारखंड’
शाह ने कहा कि बीजेपी सरकार ने बिरसा मुंडा की जन्मस्थली और कर्मस्थली पर उनके सम्मान में स्मारक बनाया और साल 2018 में पहली बार 70 साल के बाद डिग्री कॉलेज की स्वीकृति देने का काम किया। अपने भाषण में शाह ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने झारखंड को बनाने का काम किया और मोदी सरकार उसे संवारने का काम कर रही है।