यम फांस से मुक्ति को भाई-बहनों ने लगाई यमुना में डुबकी

मथुरा। एआईएन

भैयादूज पर श्रीकृष्ण की नगरी में मंगलवार को पतित पावनी यमुनाजी में लाखों श्रद्धालु भाई-बहनों द्वारा एक साथ डुबकी लगाकर यम की फांस से मुक्ति की कामना की गई।

बहिन का हाथ पकड़े भाई यमुना में डुबकी लगाने का प्रयास करते हुए
बहिन का हाथ पकड़े भाई यमुना में डुबकी लगाने का प्रयास करते हुए

यमद्वितीया भाईदूज का पर्व यमराज और यमुनाजी के अटूट प्रेम का साक्षी है। जिसके चलते बहनें यमराज-यमुनाजी का पूजन कर उनकी लम्बी आयु की मनौती मांगती हैं। इसके साथ ही घर-घर बहनों द्वारा भाइयों के माथे पर टीका किया गया। मंदिरों में दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। बाहर से आये श्रद्धालुओं के कारण शहर में काफी भीड़ रही। ब्रजवासियों के अलावा बाहर से आये श्रद्धालुओं का अर्द्धरात्रि के बाद से ही यमुना के घाटों की ओर जाना प्रारम्भ हो गया, सुबह होते-होते श्रद्धालुओं की भीड़ में वृद्धि होती गयी।

श्रद्धालुओं की सर्वाधिक भीड़ का दबाव विश्राम घाट पर रहा। श्रद्धालु भाई-बहन एक दूसरे का हाथ पकड़े यमुना में स्रान करते हुए प्रसन्नचित्त नजर आ रहे थे और अपने आपको धन्य मान रहे थे। इस दौरान जय यमुना मैया के जयकारे गुंजायमान हो रहे थे। स्रान करने के बाद श्रद्धालुओं द्वारा सूर्यनारायण को जल चढ़ाया तथा मां यमुनाजी महारानी की दुग्ध, पेड़ा, दीप, धूप, पुष्प आदि से पूजा अर्चना की गयी। इसके बाद बहनों द्वारा भाइयों के माथे पर टीका कर भोजन कराया गया। भाइयों द्वारा बहनों को उपहार प्रदान करते हुए उनके सम्मान को बनाये रखने का वचन दिया गया।

यमुना-धर्मराज के प्राचीन मंदिर में एक साथ पूजा होती है भाई बहन की

यम द्वितीया विश्रामघाट पर यमराज और उनकी बहन यमुना का पृथ्वी पर प्रथम मिलन का पर्व है। विश्राम घाट पर यमुना धर्म राज का प्राचीन मंदिर है। स्नान के बाद भाई-बहन इनका दर्शन करते हैं। यमुना जी को वस्त्र, श्रृंगार सामग्री और धर्मराज को काला वस्त्र अर्पित करते हैं। धार्मिक मान्यता है कि सूर्य पुत्री यमुना के निमंत्रण पर भाई यमराज उनसे मिलने के लिए कार्तिक शुक्ल पक्ष द्वितीया के दिन यहां आते हैं। यमराज को आया देखकर यमुना की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। यमुना ने स्नान के बाद पूजन करके, स्वादिष्ट व्यंजन परोसकर यमराज को भोजन कराया।

प्राचीन धर्मराज का मंदिर में भाई-बहिन
प्राचीन धर्मराज का मंदिर में भाई-बहिन

यमुना द्वारा किए गए इस आतिथ्य से यमराज ने प्रसन्न होकर बहन को वर मांगने का आग्रह किया। इस पर यमुना ने कहा हे भद्र, मेरी तरह जो बहन इस दिन अपने भाई को आदर सत्कार करके टीका करे, यहां बहन के साथ स्नान करें, उसे तुम्हारा भय न रहे। मृत्यु के बाद उसे यमलोक में नहीं जाना पड़ेगा। यमराज ने तथास्तु कहकर यमुना को अमूल्य वस्त्राभूषण देकर यमलोक की ओर प्रस्थान किया। तभी से इस दिन से ये पर्व मनाने की परंपरा चली आ रही है। इस कारण यम द्वितीया के दिन यमुना में स्नान करने और यमुना व यमराज की पूजा करने का विशेष महत्व है।

पीएसी गोताखोरों की यमुना के घाटों पर नजर

यमद्वितीया पर मंगलवार को यमुना घाटों पर पुलिस प्रशासन एवं पीएसी के गोताखोरों ने अपनी निगाह बना रखी है, इस अवसर यमुना घाटों पर 25 फीट तक श्रद्धालुओं को स्नान की अनुमति दी गई है, जिला प्रशासन ने वहां बल्लियां लगा दी है, जिससे कोई अनहोनी न हो सके। महिलाओं के कपड़े बदलने के लिए यमुना के दोनों ओर आठ चेंजिंग रूम भी बनाए गए जिनका प्रयोग महिला श्रद्धालुओं ने किया। 20 गोताखोर और 50 नावों को यमुना घाटों पर लगाया गया है, जिससे हर तरह से सुरक्षा की निगाह रखी जा सकें।

भाईदूज : दीर्घायु के लिए बहिनें भाई संग यमुना में स्नान करते हुए
भाईदूज : दीर्घायु के लिए बहिनें भाई संग यमुना में स्नान करते हुए

वाहनों का प्रवेश किया गया प्रतिबंधित

विश्राम घाट व अन्य घाटों की ओर जाने आने वाले मार्गों पर वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित किया गया था। शहर कोतवाली प्रभारी अवधेश प्रताप सिंह ने बताया कि होलीगेट, सुभाष इंटर कॉलेज, बंगाली घाट और चौक बाजार से कोई भी वाहन शहर के अंदर प्रवेश करने से रोका गया है, यम द्वितीया स्नान के लिए दो प्लाटून पीएसी, एक प्लाटून रिक्रूट तथा शहर के सभी थानों का पुलिस बल तैनात यहां है। साथ ही सादा वस्त्रों में महिला तथा पुलिस बल श्रद्धालुओं के बीच में रहकर सुरक्षा किए हुए हैं।

निगम कर्मचारियों ने लाउड स्पीकरों से श्रद्धालुओं को दी जानकारी

निगम द्वारा पिछले तीन चार दिनों से यमुना के घाटों पर सफाई कार्य करवाया गया, जिसके चलते आज यमुना के घाट साफ सुथरे नजर आ रहे थे। नगर निगम आयुक्त रविन्द्र मांदड ने बताया कि यमुना के प्रत्येक घाट पर कर्मचारियों की तैनाती है, जो यमुना के घाटों पर निगाह रखे हुए हैं और लाउड स्पीकरों द्वारा निगम के कर्मचारी श्रद्धालुओं को निर्धारित स्थान पर ही स्नान की जानकारी दे रहे हैं।