चिन्मयानंद के खिलाफ दुष्कर्म मामले में सुनवाई आठ जनवरी तक टली

नई दिल्ली। एएनएन (Action News Network)

पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद के खिलाफ दुष्कर्म मामले में शिकायतकर्ता लड़की की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आठ जनवरी के लिए टल गई है। लड़की की अर्जी में इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दी गई है। हाईकोर्ट ने ट्रायल कोर्ट को निर्देश दिया था कि वो पीड़ित के कोर्ट में दिए गए बयान की कॉपी चिन्मयानंद को उपलब्ध कराएं।

पिछली 2 सितम्बर को सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को निर्देश दिया था कि वो छात्रा की शिकायत की जांच करने के लिए एसआईटी का गठन करे। सुप्रीम कोर्ट ने पूरे मामले को इलाहाबाद हाईकोर्ट ट्रांसफर कर दिया था। अदालत ने इलाहाबाद हाईकोर्ट को एसआईटी की जांच की मानिटरिंग करने का आदेश दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस को निर्देश दिया था कि वो इस मामले की जांच की मानिटरिंग के लिए एक बेंच का गठन करें। कोर्ट ने कहा था कि छात्रा जिस कॉलेज में पढ़ती है वहां के लोगों से आरोपों की जांच की सच्चाई का पता लगाया जाए। कोर्ट ने कहा था कि उसके आदेशों का मतलब आरोपों की सच्चाई पर कोई राय बनाना नहीं है।