हैदराबाद : एनकाउंटर करने वाले पुलिस जवानों को एक लाख रुपए इनाम देने का ऐलान किया

गांधीनगर। एएनएन (Action News Network)

हैदराबाद दुष्कर्म के चार आरोपियों को पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने की घटना का गुजरात में व्यापक तौर पर स्वागत किया गया है जबकि राज्य के एक उद्योगपति ने इसके लिए वहां की पुलिस को एक लाख रूपये का इनाम देने की घोषणा भी की है। वेटनरी डॉक्टर की रेप बाद हत्या करने वाले चारों आरोपियों का आज सबेरे साइबराबाद पुलिस ने हैदराबाद बेंगुलुरु हाईवे पर सीन रिक्रिएशन के दौरान एनकाउंटर में मार गिराया। आरोप है कि पड़ताल के दौरान चारो ओरापी पुलिस की बंदूक छीनकर भाग रहे थे।

राज्य के भावनगर के महुवा के उद्योगपति और स्थानीय भाजपा नेता राजभा गोहिल ने कहा कि हैदराबाद की मुठभेड़ की घटना से उन्हें पुलिस पर गर्व का अनुभव हो रहा है। पुलिस ने देश की युवतियों और महिलाओं को सम्मान देने का काम किया है। वह इसके लिए हैदराबाद पुलिस को सलाम करते हैं और वहां जाकर उसे एक लाख रूपये का इनाम देंगे।

उधर मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि उक्त घटना को लेकर पूरे देश में रोष था जिसका एक तरह से जवाब मुठभेड़ की घटना से मिला है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता परेश धानाणी ने कहा कि पूरा देश इसका स्वागत कर रहा है। इस घटना से आरोपियों को समय से कुछ पहले ही सजा मिल गयी है। गृहराज्य मंत्री प्रदीपसिंह जाडेजा ने कहा कि हैदराबाद पुलिस ने परिस्थिति के अनुरूप योग्य कदम उठाया है।

उधर इस घटना के बाद गुजरात के अहमदाबाद समय अन्य स्थानों पर लोगों ने पटाखे जला कर और मिठाइयां बांट कर अपनी खुशी का इजहार भी किया।

एनकाउंटर की खबर मिलते ही पास गांवा के लोग वहां इकट्ठे हो गए और पुलिसवालों को गोदी में उठाकर खुशी का इजहार किया। बहुत से लोगों ने पुलिस के जवानों पर फूलों की वर्षा की।

28 नवंबर को मिला था जला शव

गौरतलब है कि राज्य के एक सरकारी अस्पताल में सहायक पशु-चिकित्सक के रूप में कार्यरत महिला का शव 28 नवंबर की सुबह शादनगर में जली हुई हालत में मिली थी। साइबराबाद पुलिस ने 29 नवंबर को मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया था और उन्हें शनिवार को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। सभी आरोपियों की उम्र 24 साल से कम है।

तेलंगाना सरकार ने मामले की जल्द से जल्द सुनवाई के लिए बुधवार को फास्ट ट्रैक कोर्ट गठित करने के आदेश जारी किये थे। राज्य सरकार ने मामले की जल्द सुनवाई के लिए महबूबनगर जिले में प्रथम अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत को विशेष अदालत के रूप में नामित किया था। दुष्कर्म एवं हत्या की इस घटना के बाद देश के लोगों ने आक्रोश था और जल्द से जल्द न्याय की मांग कर रहे थे।

महिलाओं ने हैदराबाद पुलिस के जवानों के हाथ पर रक्षा बांधकर और उन्हें मिठाई खिलाकर उनका अभिवादन किया।