IIT हैदराबाद के छात्र ने केम्पस में की आत्महत्या, पुलिस जांच जारी

हैदराबाद, ब्यूरो |  देशभर में आत्महत्या के मामले आए दिन देखने को मिलते हैं। हाल ही में एक और आत्महत्या का ताजा मामला हैदराबाद से सामने आया  है। मंगलवार सुबह एक आइआइटी छात्र ने खुदकुशी कर ली। अपने कैंपस की बिल्डिंग से कूद कर छात्र ने आत्महत्या की। छात्र आइआइटी  तीसरे वर्ष की पढ़ाई कर रहा था। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। फिलहाल अभी तक छात्र की आत्महत्या की वजह सामने नहीं आ पाई है। पुलिस केस दर्ज कर पूरे मामले की छानबीन में जुट गई है। इससे पहले आइआइटी हैदराबाद में एमटेक के फाइनल ईयर के छात्र ने 4 जुलाई 2019 को आत्महत्या कर ली थी। इस दौरान छात्र ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा था, जिसमें उन्होंने नौकरी नहीं मिलने को अपनी आत्महत्या का कारण बताया था।

वहीं 22 अक्टूबर 2019 को बेंगलुरु एक इंजीनियरिंग छात्र ने भी खुदकुशी कर ली थी। छात्र का नाम हर्षा था और वह तीसरे वर्ष का छात्र था। छात्र अमृता इंजीनिरिंग कॉलेज का छात्र था। दरअसल, हर्षा ने कॉलेज प्रबंधन पर उत्पीड़न का आरोप लगाया था। इसके बाद कॉलेज ने उसे सस्पेंड करने की धमकी दी थी। इसी धमकी के बाद छात्र ने अपने कॉलेज की सातवीं मंजिल से कूदकर जान दे दी थी। और इस से ठीक पहले 14 अक्टूबर 2019 को जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के एक छात्र ने भी आत्महत्या कर ली थी। छात्र ओखला विहार इलाके में किराए पर रहता था। अपने ही घर पर उसने कथित रूप से फंदा लगाकर जान दे दी थी। 22 साल के इरफान बीके की मौत का भी अभी तक पता नहीं चल पाया है। छात्र केरल का रहने वाला था। ऐसे ही खुदखुशी के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। देश के युवाओं पर इसका बहुत बुरा असर पड़ रहा है।