जानें हमारे भारत देश का पहला एनकाउंटर कब, कहाँ, किसका और किसने किया?

पुलिस के द्वारा किसी आरोपी का एनकाउंटर करने की खबरें तो हर किस ने सुना होगा। इन दिनों तो हैदराबाद हत्याकांड करने वाले आरोपियों का भी एनकाउंटर ही हुआ। तो ऐसे भी ये एनकाउंटर वाली बात और भी ज्यादा चर्चा में बनी हैं।

Image result for मन्या सुर्वे फोटो"
Manya Surve (Driver) with Bal Thakre, when Bhujbal elected as mayor.

लेकिन शायद ये बहुत कम यानि न के बराबर लोग ही जानते होंगे कि देश में पहला एनकाउंटर किसने, कब, कहाँ और किसका किया गया? तो आइये जानते हैं इसके बारे में….

  • देश में पहले एनकाउंटर का रिकॉर्ड मुंबई पुलिस के नाम दर्ज है।
  • मुंबई में बढ़ते गैंगवॉर पर काबू पाने के लिए एक ईकाई बनाई गई थी जिसे ‘एनकाउंटर स्क्वॉड’ का नाम दिया गया था। यह एनकाउंटर स्क्वॉड 80 और 90 के दशक के दौरान चर्चा में आया था।
  • ये वो समय था जब इस स्क्वॉड ने दाऊद इब्राहिम की डी-कंपनी गैंग, अरुण गावली गैंग और अमर नाईक गैंग से निपटना शुरू किया।
  • ऐसे हालात जब गैंगस्टर को घेर लिया गया हो, उसे आत्मसमर्पण करने के लिए कहा जा रहा हो, लेकिन अपराधी पुलिस पर हमलाकर भागने की कोशिश करे, और बदले में पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई में उसकी गोली लगने से मौत हो जाए। इसे एनकाउंटर नाम दिया गया।
  • देश के इतिहास में दर्ज पहला एनकाउंटर 11 जनवरी 1982 को किया गया था।
  • मुंबई पुलिस के दो अधिकारी, राजा तांबट और इशाक बागवान ने कुख्यात अपराधी मान्या सुर्वे को मुंबई के वडाला में गोली मारी थी।
  • मुंबई के साथ-साथ देश के इतिहास में आधिकारिक तौर पर दर्ज यह पहला एनकाउंटर था।
Manya Surve (Driver) with Bal Thakre, when Bhujbal elected as mayor.

कौन था ये मान्या सुर्वे?

मान्या सुर्वे का पूरा नाम था मनोहर अर्जुन सुर्वे। वह एक गैंगस्टर था।

मान्या ने मुंबई के कीर्ति कॉलेज से स्नातक (BA) की पढ़ाई की थी। फिर उसे हत्या के एक मामले में सजा हुई। उसे पुणे के यरवदा जेल में रखा गया था। कहते हैं कि जिस हत्या के मामले में मान्या को सजा हुई थी, वह उसने की ही नहीं थी।

हालांकि जेल से छूटने के बाद दो साल के अंदर ही मान्या ने अंडरवर्ल्ड तक अपनी पहुंच बना ली। अपने कई दोस्तों को भी अपनी गैंग में शामिल कर लिया। इसके बाद कई हत्याओं को अंजाम दिया। जब मान्या सुर्वे का एनकाउंटर हुआ, उसकी उम्र 37 साल थी।

इस घटना पर आधारित फिल्म शूटआउट एट वडाला भी बनी थी, जिसमें जॉन अब्राहम ने मान्या सुर्वे की भूमिका निभाई थी।