ओडिशा: पुरी में लिफ्ट के बहाने नाबालिग से गैंगरेप, कांस्टेबल गिरफ्तार, तीन हिरासत में

भुवनेश्वर। एएनएन (Action News Network)

एक नाबालिग को लिफ्ट देने के बहाने ले जाकर पुरी के पुलिस क्वार्टर्स में सामूहिक दुष्कर्म किये जाने की एक सनसनीखेज घटना उजागर होने के बाद राज्य की राजनीति में उबाल आ गया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने आरोपित कांस्टेबल जीतेन्द्र सेठी को गिरफ्तार कर लिया है। तीन अन्य लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। घटना सोमवार देर शाम की है। पुरी के आरक्षी अधीक्षक व सेंट्रल रेंज के डीजी स्वयं इस घटना के जांच की निगरानी कर रहे हैं।

पीड़ित नाबालिग है और उसके बयान के अनुसार वह भुवनेश्वर में रहती थी । सोमवार को वह अपने घर काकटपुर जा रही थी। निमापडा में दोपहर के बाद होटल में भोजन करने के पश्चात वह बस की प्रतीक्षा में खड़ी थी। उसे अकेला देख कर आरोपित जीतेन्द्र व उनके तीन साथी आ कर लिफ्ट देने की बात कही लेकिन जब वह राजी नहीं हुई तब उसने पुलिस होने का प्रमाण पत्र दिखा कर विश्वास प्राप्त किया । इसके बाद वह भरोसे में आकर उनकी कार में बैठ गई ।

जीतेन्द्र ने उसे काकटपुर की बजाय पुरी लेकर आया । वहां वह उसे अपने सरकारी क्वार्टर में ले गया । जीतेन्द्र की पत्नी भी पुलिस में होने के कारण उसे एक क्वार्टर मिला है । वहां चारों ने उसके साथ गलत व्यवहार किया। इसके बाद एक कमरे में लाक कर दोनों वहां से चले गये । इसके बाद जीतेन्द्र व उसके एक साथी ने उसके साथ दुष्कर्म किया । पीड़ित का कहना है कि उन्होंने शराब पीने के बाद दुष्कर्म किया तथा उसकी वीडियो रिकार्डिंग भी की है । हालांकि काफी नशे का सेवन करने के कारण कुछ समय बाद उनमें होश नहीं रहा। तभी उसने बाहर जा रहे एक व्यक्ति को बोल कर दरबाजा खुलवाया व आरोपित कांस्टेबल का पर्स लेकर वहां से भाग निकली। इस पर्स में जीतेन्द्र के कागजात थे। इसके बाद पीडित पुरी के कुंभारपडा थाने में पहुंची ।

स्थिति की गंभीरता को देखते हुए एसपी उमाशंकर दास समेत महिला डीएसपी व कुभांरपडा थाने के थानाधिकारी ने जांच शुरू की । जांच के तुरंत बाद जितेन्द्र को गिरफ्तार कर लिया । तीन लोगों को और हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही । पीड़ित की डाक्टरी चिकित्सा की जा रही है। सोमवार देर शाम राज्य के विभिन्न राजनैतिक दलों ने इस मामले में विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। विभिन्न राजनैतिक पार्टी के नेता सड़क पर उतरे व एसपी से इस मामले में बातचीत की। एसपी ने उन्हें कड़ी कार्रवाई किये जाने का आश्वासन दिया है ।