महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन, NCP प्रमुख शरद पवार की कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक

महाराष्‍ट्र में राजनीतिक घटनाक्रम मंगलवार को काफी तेजी से बदला।

मुंबई। एएनएन (Action News Network)

महाराष्‍ट्र में राजनीतिक घटनाक्रम मंगलवार को काफी तेजी से बदला। सुबह से शाम तक नई दिल्‍ली से लेकर मुंबई तक बैठकों का दौर जारी रहा। जहां दिल्‍ली में कांग्रेस का बैठकों का दौर जारी रहा। वहीं मुंबई में एनसीपी ने बैठक की। राज्‍यपाल भगत सिंह कोश्‍यारी ने राज्‍य में राष्‍ट्रपति शासन की सिफारिश कर दी। केंद्रीय कैबिनेट ने भी राज्‍य में राष्‍ट्रपति शासन की सिफारिश की है। देर शाम राष्‍ट्रपति ने इसे मंजूरी दे दी। वहीं शिवसेना ने राष्‍ट्रपति शासन की स्थिति में सुप्रीम कोर्ट जाने का फैसला किया है।

  • महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने के बाद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और उनके पुत्र आदित्य ठाकरे अपने विधायकों से मिलने पहुंचे।
  • मुंबई में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, अहमद पटेल और केसी वेणुगोपाल एनसीपी प्रमुख शरद पवार के साथ बैठक के लिए वाईबी चव्हाण केंद्र पहुंचे।
  • शिवसेना के वकील राजेश इनामदार ने कहा कि राष्ट्रपति शासन के बारे में जो भी जानकारी मुझे मिल रही है वह समाचार चैनलों के माध्यम से है। इस पर एक कानूनी चर्चा करेंगे और इसके बाद यदि कोई याचिका दायर करने की आवश्यकता है तो हम कानूनी सहारा लेंगे।
  • गृह मंत्रालय के अनुसार, महाराष्ट्र सरकार का विचार है कि चुनावी प्रक्रिया की समाप्ति के 15 दिन हो जाने के बाद भी कोई भी राजनीतिक पार्टी सरकार बनाने की स्थिति में नहीं है, लिहाजा राष्ट्रपति शासन बेहतर विकल्प है।
  • गृह मंत्रालय के अनुसार, राज्यपाल की रिपोर्ट में कहा गया है कि महाराष्ट्र की सरकार संविधान के प्रावधान के तहत नहीं बन सकती, लिहाजा कोई और विकल्प नहीं है। उन्हें संविधान के अनुच्छेद 356 के तहत विवश होकर यह रिपोर्ट भेजनी पड़ रही है।
  • महाराष्ट्र के राज्यपाल ने 12 नवंबर को राष्ट्रपति शासन लागू करने की सिफारिश करते हुए कहा कि राज्य में स्थायी सरकार बनाना संभव नहीं है। महाराष्ट्र विधानसभा को स्थगित कर दिया गया है।
  • गृह मंत्रालय के अनुसार, राज्यपाल ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि राज्य में कोई भी दल सरकार बनाने की स्थिति में नहीं है, इसलिए राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए।
  • शिवसेना द्वारा सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करने पर महाराष्ट्र सरकार के वकील निशांत कतनेकर ने कहा कि मुझे अभी याचिका की कॉपी नहीं मिली है। उसे देखने के बाद हम आगे के कदम उठाएंगे।
  • मुंबई में एनसीपी प्रमुख शरद पवार के साथ वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे और केसी वेणुगोपाल की बैठक हो रही है। महाराष्‍ट्र में सरकार बनाने को लेकर चर्चा हो रहा है।
  • एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा कि पार्टी का मानना है कि बिना तीन दलों कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के मिले कोई वैकल्‍प‍िक सरकार नहीं बन पाएगी। यदि तीनों पार्टियां साथ आती है तो एक स्‍थाई सरकार बनाई जा सकती है।
  • एआइएमआइएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि हम न तो भाजपा की अगुवाई वाली सरकार का समर्थन करेंगे और ना ही शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार का। मैं खुश हूं कि यदि कांग्रेस और राकांपा शिवसेना का समर्थन कर रही है तो लोगों को पता चल जाएगा कि कौन किसके वोट काट रहा है और कौन किससे टकरा रहा है।