वकीलों की हड़ताल, भूमि पंजीकरण से संबंधित कार्य रूकने से जनता परेशान

नई दिल्ली।एएनएन (Action News Network)​

केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद भूमि पंजीकरण के अधिकार न्यायिक अधिकारियों से छीन कर राजस्व अधिकारियों को देने के विरोध में बार एसोसिएशन ने 6वें दिन शुक्रवार को भी न्यायालय का काम बंद रख कर न्यायालय के सामने धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रदर्शनकारी वकीलों ने आदेश को जल्द वापस लेने की मांग की।

वकीलों की हड़ताल के चलते भूमि पंजीकरण से संबंधित सभी कार्य रूक जाने से कामकाज के सिलसिले में न्यायालय में आए लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। बैंकों में भी लोन लेने वाले ग्रहाकों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

शुक्रवार को कोर्ट परिसर में धरने पर बैठे अधिवक्ताओं का नेतृत्व करते हुए बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अजातशत्रु शर्मा ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश बनने पर भूमि पंजीकरण के मामलों के अधिकार वकीलों से छीनकर राजस्व विभाग को सौंप दिए हैं। इसका प्रदेश के वकील विरोध कर रहे हैं। जम्मू बार एसोसिएशन की हड़ताल का समर्थन करते हुए बार एसोसिएशन कठुआ ने भी 6वें दिन शुक्रवार को कोर्ट का कामकाज बंद रखा और कोर्ट परिसर में धरना प्रदर्शन कर विरोध जताया।

राजस्व विभाग पर पहले से ही काम का बोझ अधिक है। ऐसे में इस आदेश से उनका काम भी प्रभावित होगा। प्रदर्शन के बाद धरने पर बैठे अधिवक्ताओं ने प्रदेश सरकार से मांग की कि जल्द इस आदेश को वापस लिया जाए