सेना प्रमुख पर प्रतिबंध लगाने को लेकर श्रीलंका ने अमेरिका का किया विरोध

कोलंबो। एएनएन (Action News Network)

अमेरिका ने श्रीलंका के सेना प्रमुख पर संयुक्त राज्य में प्रवेश करने पर प्रतिबंध लगा दिया है। उन पर मानवाधिकार उल्लंघन का आरोप है। इस बात का श्रीलंका ने कड़ा विरोध किया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शनिवार को यह जानकारी मिली है कि शुक्रवार को विदेश मामले के मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा है कि श्रीलंका सरकार अमेरिका द्वारा सेना प्रमुख के यात्रा करने पर प्रतिबंध लगाने का कड़ा विरोध करती है। यह आरोप असत्यापित जानकारी के आधार पर लगाए गए हैं।

स्थानीय मीडिया के मुताबिक सरकार ने दोहराया कि लेफ्टिनेंट जनरल सिल्वा को उनकी वरिष्ठता के आधार पर सेना के कमांडर के रूप में नियुक्त किया गया है। उनके खिलाफ मानवाधिकार के उल्लंघन के कोई पुष्ट या सिद्ध आरोप नहीं थे।

राष्ट्रपति गोटबया राजपक्षे द्वारा रक्षा कर्मचारियों के कार्यवाहक प्रमुख के रूप में उनकी उन्नति उनके सबसे वरिष्ठ सैन्य अधिकारी के रूप में था।

बयान में यह भी कहा गया है कि श्रीलंका की सरकार अमेरिकी प्रशासन ने निवेदन करती है कि सूचना के स्त्रोतों की प्रमाणिकता को सत्यापित करे और अपने निर्णय पर पुनर्विचार करें।

उल्लेखनीय है कि अमेरिका ने श्रीलंका के सेना प्रमुख शवेंद्र सिल्वा पर मानवाधिकारों के उल्लंघन के लिए प्रतिबंध लगा दिया है। विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि 2009 में श्रीलंका में गृहयुद्ध के अंतिम चरण में सेना ने बिना वजह कई लोगों की हत्याओं को अंजाम दिया।