कोलकाता के ईडन गार्डन में पहली बार डे-नाइट टेस्ट खेलेगी टीम इंडिया

कोलकाता। एएनएन (Action News Network)

भारत का पहला डे-नाइट टेस्ट 22 नवंबर से कोलकाता के ईडन गार्डन्स स्टेडियम में शुरू होने जा रहा है। इससे पहले कोलकाता के ईडन गार्डन्स स्टेडियम में तैयारियां जोरों पर है। इस स्टेडियम में कल कप्तानों का मेला लगने वाला है।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली इस मैच के लिए काफी उत्साहित हैं। इस अहम मैच में सब कुछ अनुकूल रहे, इसकी पूरी जिम्मेदारी गांगुली ने ले रखी है। वह हर चीज पर बारीकी से नजर रखे हुए हैं।

गांगुली ने ईडन गार्डन्स स्टेडियम की पिच का मुआयना करने के बाद मीडिया से बात की जिसमें साफ देखा जा सकता था कि गांगुली इस ऐतिहासिक दिन के लिए कितने उत्साहित हैं।

गांगुली ने कहा, “इस ऐतिहासिक टेस्ट मैच में ईडन गार्डन्स में काफी कुछ होगा। इस मैच के पहले दिन कई पूर्व क्रिकेटर, सेलेब्रिटी और राजनेता मौजूद रहेंगे। सचिन (तेंदुलकर), (सुनील) गावस्कर, कपिल (देव), राहुल (द्रविड़),अनिल (कुंबले), हर कोई वहां होगा। चायकाल के समय पूर्व कप्तान कार्ट में बैठकर मैदान का चक्कर लगाएंगे।”

भारत में पहले दिन-रात्रि टेस्ट के आयोजन में अहम भूमिका निभाने वाले भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा कि खेल के पारंपरिक प्रारूप में दिलचस्पी बढ़ाने के लिए कायाकल्प की आवश्यकता है।

भारतीय क्रिकेट टीम के इतिहास में पहली बार खेले जाने वाले डे-नाइट टेस्ट को यादगार बनाने के लिए इसके मेजबान स्थान कोलकाता के ईडन गार्डन्स्स मैदान पर तैयारियां जोरदार स्तर पर चल रही हैं।

यह दोनों देशों के लिए पहला मौका है, जब वे गुलाबी गेंद से टेस्ट मैच खेलेंगे। यह भारत का 540वां टेस्ट मैच होगा। बंगाल क्रिकेट संघ (CAB) और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) मिलकर इस मैच की तैयारियों में जुटा है।

गांगुली ने कहा, “चायकाल के दौरान म्यूजिकल परफॉर्मेंस होगा और दिन के आखिर में सम्मान समारोह होगा. दोनों टीमें, पूर्व कप्तान, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी वहां होंगी। रूना लैला, जीत गांगुली अपनी प्रस्तुति देंगे।”

दीवारों पर चित्रकारी

भारत अपने घरेलू मैदान पर टेस्ट के इस सबसे नए प्रारूप में खेलने जा रहा है, जिसके लिए कई प्रकार के कार्यक्रमों का इस दौरान आयोजन किया गया है। कैब ने मैच में क्रेक्राफ्ट के साथ मिलकर ईडन गार्डन्स की दीवारों पर क्रिकेट के यादगार पलों को चित्रों के रूप में उकेरने का भी प्रयास किया है। यहां खिलाड़ियों के पहले मैच से लेकर उनके राष्ट्रीय टीम में खेलने तक के सफर को दिखाया जाएगा। क्रेक्रॉफ्ट के प्रमुख सयान मुखर्जी ने इस पूरी चित्रकला को डिजाइन किया है।

‘पिंकू-टिंकू’ मस्कट तैयार

दोनों ही टीमों के लिए यह ऐतिहासिक पल होगा इसलिए उनके नाम का मस्कट भी तैयार किया गया है, जिसे ‘पिंकू-टिंकू’ नाम दिया गया है। यह मस्कट मैच के दौरान दिखाई देगा।

आसमान में दिखाई देगा गुलाबी रंग का गुब्बारा

आसमान में एक विशालकाय गुलाबी रंग का गुब्बारा भी मैच के आखिरी तक हवा में उड़ता रहेगा। शहीद मीनार और केएमसी पार्कों में गुलाबी रंग की रौशनी की जाएगी, जबकि टाटा स्टील इमारत पर 20 नवंबर से 3डी मैपिंग देखने को मिलेगी।

गुलाबी नजर आएगा कोलकाता

‘द मेजरर क्लब’ रात को गुलाबी रौशनी करेगा तो 16 नवंबर से ही गंगा तट पर ऐसी रौशनी का प्रबंध किया गया है। यह मैच के दिन तक हावड़ा ब्रिज से विद्यासागर सेतू तक रहेगा। इन सबके अलावा पूरे शहरभर में दर्जनों बिलबोर्ड लगाए गए हैं जो गुलाबी गेंद से होने वाले मैच को लेकर विशेष जानकारी मुहैया कराएंगे।

हेलीकॉप्टर से उतरेंगे पैराट्रूपर-

कैब के सचिव अभिषेक डालमिया ने बताया कि सेना के पैराट्रूपर ईडन गार्डन्स मैदान में आसमान से नीचे उतरेंगे और मैच से पहले दोनों कप्तानों को गुलाबी गेंद देंगे।

इस ऐतिहासित मैच के लिए कई पूर्व दिग्गज क्रिकेटरों सचिन तेंदुलकर, वीवीएस लक्ष्मण, राहुल द्रविड़, अनिल कुंबले के साथ साथ बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के मौजूद रहने की भी उम्मीद है। वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भी आमंत्रित किया गया है।