सैन्य सहायता रोके जाने के पीछे ट्रम्प के राजनीतिक उद्देश्य की बात गलत : जेलेन्स्की

लॉस एंजेल्स। एएनएन (Action News Network)

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदोमीर जेलेन्स्की ने कहा है कि यह कहना गलत है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने किसी राजनीतिक उद्देश्य के लिए उनके देश को मिलने वाली सैन्य आर्थिक सहायता रोक रखी है। यूक्रेन राष्ट्रपति के इस कथन से अमेरिकी राष्ट्रपति को राहत मिली है। विदित हो, डेमोक्रेट बहुल कांग्रेस के निचले सदन प्रतिनिधि सभा की न्यायिक समिति में इसी बात को लेकर राष्ट्रपति पर महाभियोग की न्यायिक जांच चल रही है। इसमें ट्रम्प पर सीधे-सीधे आरोप मढ़ा जा रहा है कि उन्होंने राजनीतिक लाभ के लिए यूक्रेन को दी जाने वाली सैन्य आर्थिक मदद रोक रखी है। हालांकि यूक्रेन के राष्ट्रपति ने यह कहकर स्थिति को और उलझा दिया है कि अमेरिकी कांग्रेस के दोनों सदनों की ओर से सैन्य आर्थिक सहायता प्रस्ताव पर सहमति के बावजूद व्हाइट हाउस की ओर से रोके जाने का औचित्य उन्हें समझ नहीं आ रहा है।

यूक्रेन के राष्ट्रपति ने देश के मौजूदा संकट के संबंध में कहा कि उनकी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन के बीच 9 दिसम्बर को पेरिस में वार्ता होनी तय है। इस वार्ता में कोई हल निकल पाएगा, उन्हें संदेह है। उनका कहना है कि इस तरह की बातचीत होती रहती है, लेकिन जब तक रूस पर कोई ठोस दबाव नहीं पड़ेगा, समस्या के समाधान की उम्मीद करना बेमानी है। उन्होंने कहा कि पिछले पांच वर्षों से यूक्रेन और रूस के बीच चल रहे युद्ध की विभीषका को शांत करने में फ्रांस और जर्मनी ने सहयोग दिया था। इससे तोपों की गड़गड़ाहट शांत हुई है, लेकिन सप्ताह में एक-दो बार गोलीबारी की घटनाएं होती रहती हैं। उन्होंने कहा कि उनकी प्राथमिकताओं में युद्ध बंदियों की अदला-बदली और युद्ध विराम मुख्य हैं।

टाइम मैगजीन और यूरोप के दो अन्य समाचार पत्रों से बातचीत में यूक्रेन राष्ट्रपति ने कहा कि युद्ध में 13 हजार यूक्रेनियन मारे जा चुके हैं। उन्हें नहीं लगता कि अमेरिका के हस्तक्षेप के बिना रूस पर कोई दबाव पड़ेगा। अब उन्हें यह भरोसा भी नहीं रहा है कि अमेरिका अथवा यूरोप उनकी आर्थिक अथवा सैन्य मदद के लिए आगे आएंगे। रूस ने सन 2014 से यूक्रेन के एक हिस्से क्रीमिया प्रायः:द्वीप पर कब्जा कर रखा है।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उनके सहयोगी जब तक यूक्रेन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते रहेंगे, उन्हें कहीं से वित्तीय सहायता मिलने की गुंजाइश नहीं है। वोलोदीमीर ने इस आरोप को बेबुनियाद बताया कि उनकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से अमेरिकी सहायता रोके जाने के संदर्भ में कोई बातचीत हुई है। विदित हो कि ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग जांच में सुनवाई के दौरान इसी बात का आरोप लगाया जा रहा है कि ट्रम्प ने राजनीतिक उद्देश्यों की पूर्ति के लिए यूक्रेन को दी जाने वाली आर्थिक सहायता रोक दी है। साथ ही उन्होंने ट्रम्प की ओर से लगाए गए इस आरोप को भी बेबुनियाद बताया है कि यूक्रेन भ्रष्टाचार से लिप्त है। उन्होंने अमेरिकी आर्थिक मदद रोके जाने के फेयरनेस पर ही सवाल उठाये।