कश्मीर भारत का आंतरिक मामला, तुर्की न करे हस्तक्षेप : विदेश मंत्रालय

नई दिल्ली। एएनएन (Action News Network)

भारत ने तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन द्वारा कश्मीर के मुद्दे पर की गई टिप्पणी की आलोचना की है। भारत ने स्पष्ट किया है कि कश्मीर उसका आंतरिक मामला है और तुर्की को इसमें हस्तक्षेप करने की जरूरत नहीं है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने शनिवार को कहा कि भारत ने जम्मू-कश्मीर पर तुर्की के राष्ट्रपति के बयान को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा, ‘हम तुर्की नेतृत्व से अनुरोध करते हैं कि वह भारत के आंतरिक मामले में दखल ना दे। कश्मीर भारत का अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा है।’

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को पाकिस्तान की संसद में एक संबोधन में एर्दोगन ने कहा था कि उनका देश इस मामले में पाकिस्तान के रुख का समर्थन करेगा क्योंकि यह दोनों देशों से जुड़ा विषय है।