उन्नाव कांड: मृत युवती के पिता की मांग- आरोपितों के साथ हैदराबाद जैसा सलूक हो

रायबरेली। एएनएन (Action News Network)

गैंगरेप पीड़ित युवती का दिल्ली के अस्पताल में निधन होने की खबर मिलने के बाद से उसके गांव में गम का माहौल है। आरोपित भी इसी गांव के होने की वजह से उनके परिजनों में दहशत है। हालांकि पीड़ित का शव आज रात तक गांव आने की उम्मीद है लेकिन दिल्ली के अस्पताल में उसके निधन होने का समाचार मिलने के बाद से आसपास इलाकों के ग्रामीण भी युवती के गांव पहुंचने लगे हैं। पीड़ित की मौत से बेहद आहत पिता ने दरिंदों को हैदराबाद पुलिस की तरह एनकाउंटर करने की मांग की।

पीड़ित की मौत के बाद मीडिया से बात करते हुए उसके पिता ने कहा कि जिस तरह से हैदराबाद कांड के दरिंदों को दौड़ाकर मारा गया, उसी तरह उनकी बेटी के हत्यारों को सजा मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि न्याय पर उन्हें भरोसा है लेकिन न्याय तभी होगा, जब दोषियों को तुरंत फांसी मिलेगी। उन्होंने कहा कि उनकी सिर्फ एक ही मांग है कि बेटी की मौत का इंसाफ मिले।

उल्लेखनीय है कि बीते गुरुवार की अलसुबह पीड़ित को जलाकर मारने की कोशिश की गई। गंभीर रूप इसे करीब 90 प्रतिशत झुलसी अवस्था मे लखनऊ ले जाया गया, जहां से बाद में बाद में दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल रेफर किया गया। दिल्ली के अस्पताल में शुक्रवार की देर रात करीब 11 बजकर चालीस मिनट पर पीड़ित की मौत हो गई थी। दिल्ली में पोस्टमार्टम के बाद पीड़ित का शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा।

उन्नाव में पीड़ित के ही गांव के रहनेवाले शिवम और उसके चचेरे भाई शुभम ने रायबरेली के लालगंज में पिछले वर्ष 12 दिसम्बर को रायबरेली में दुष्कर्म किया था और उसका वीडियो बनाकर लगातर ब्लैकमेल कर रहे थे। पीड़ित इनकी दहशत के कारण रायबरेली के लालगंज में अपने बुआ के यहां रह रही थी। मामले में पुलिस की बड़ी लापरवाही उजागर हुई थी और कोर्ट के आदेश के बाद 5 मार्च, 2019 को मुकदमा दर्ज हो पाया था। घटना के दिन पीड़ित रायबरेली में पेशी के लिए आ रही थी।