Top
Action India

सीबीआरएन आपदा प्रबंधन पर आईओसीएल के साथ एनडीआरएफ ने किया मॉक ड्रिल

सीबीआरएन आपदा प्रबंधन पर आईओसीएल के साथ एनडीआरएफ ने किया मॉक ड्रिल
X

गुवाहाटी । एक्शन इंडिया न्यूज़

औद्योगिक आपदा प्रबंधन पर प्रथम एनडीआरएफ ने आईओसीएल प्लांट उत्तर गुवाहाटी के साथ संयुक्त मॉक ड्रिल का शनिवार को आयोजन किया। इस अभ्यास में प्रथम एनडीआरएफ ने प्रारम्भिक चरण में योजना एवं समन्वय, में सक्रिय भागीदारी और सहायता प्रदान करके ड्रिल के दौरान मुख्य भूमिका निभायी। एनडीआरएफ के 28 रेस्क्यूएर्स ने सभी आवश्यक प्रतिक्रिया उपकरणों के साथ मॉक ड्रिल में भाग लिया।

अभ्यास के दौरान एनडीआरएफ के रेस्क्यूएर्स ने कमांड पोस्ट व मेडिकल बेस की स्थापना की ताकि स्थिति पर नजर रखी जा सके और पीड़ितों को जल्द से जल्द मेडिकल फर्स्ट ऐड प्रदान किया जा सके। मॉक ड्रिल के दौरान प्रभावी कार्य प्रणाली एवं प्रतिक्रिया और साथ ही प्रतिक्रिया उपकरणों के साथ त्वरित और सुरक्षित संचालन सुनिश्चित करने के लिए यह अभ्यास किया गया।

औद्योगिक आपदा मॉक ड्रिल समाज के सभी वर्गों में जन-जागरुकता उत्पन्न करता है। इस तरह के मॉक ड्रिल बेहतर समन्वय विकसित करते हैं। जो वास्तविक आपदा स्थितियों पर प्रतिक्रिया करने के लिए आवश्यक है। आपदा प्रतिक्रिया यह न केवल विशेष समूहों का कार्य है, बल्कि सामुदायिक समूहों, युवाओं, गैर-सरकारी संगठनों, अधिकारियों और प्रशासन भी आपदा प्रबंधन के लिए जवाबदेह और महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

औद्योगिक दुर्घटना में चेतावनी बहुत कम है और नुकसान ज्यादा है। इस दुर्घटना में जीवन संम्पति, आजीविका और पर्यावरण में बहुत बड़ा नुकसान होता है। विभिन्न रूप में खतरनाक सामग्री की वजह से मौत, गम्भीर चोट, इमारतों, घरों और अन्य संम्पतियों का नुकसान हो सकता है। औद्योगिक स्थापना के अंतर्गत आने वाला इलाका तत्काल खतरे में आ सकता है।

प्लांट के लगभग 250 लोग और स्थानीय लोगों ने संयुक्त अभ्यास को देखा। उसके बाद डी-ब्रिफिंग सत्र का आयोजन किया, जिसमें एनडीआरएफ की भूमिका को स्थानीय जनता, अधिकारियों, प्रशासन ने सराहना की।

Next Story
Share it