Top
Action India

गुड टच-बैड टच अवेयरनेस कैंप मेें बच्चों को दिखायी शॉर्ट फिल्में

गुड टच-बैड टच अवेयरनेस कैंप मेें बच्चों को दिखायी शॉर्ट फिल्में
X

चूरू। एएनएन (Action News Network)

चूरू प्रशासन की पहल पर महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से मंगलवार को जिलेभर के विद्यालयों में गुड टच बैड टच अवेयरनेस कैंपेन के तहत अधिकारियों व शिक्षकों ने बच्चों को अच्छे व बुरे स्पर्श का फर्क समझाया, इससे संबंधित शॉर्ट फिल्म दिखाईं और बताया कि कैसे उन्हेंं अपने साथ होने वाले हर गलत का विरोध करना चाहिए। इसी सिलसिले में जिला मुख्यालय स्थित राजकीय पारख बालिका माध्यमिक विद्यालय में पहुंचे कलक्टर संदेश नायक ने बच्चों से संवाद किया और उनकी पढाई-लिखाई के साथ-साथ दिनचर्या को लेकर टिप्स दिए।

नायक ने कहा कि समाज में अच्छे और बुरे सभी तरह के लोग हैं, हमें उनकी गतिविधियों से उनकी पहचान कर सकते हैं। यदि माता-पिता देर रात को कहीं बाहर अकेले किसी काम से भेजते हैं तो आप भी अपनी असुरक्षा को समझकर उन्हें मना कर सकते हैं। बच्चों को पता होना चाहिए कि उनके लिए क्या सुरक्षित है और क्या खतरनाक है। कलक्टर ने बच्चों से कहा कि यदि कोई गलत ढंग से उन्हें स्पर्श करता है तो तत्काल उन्हें इसका विरोध करते हुए अपने अभिभावक व शिक्षकों को यह बात बतानी चाहिए। उन्होंने कहा कि कोई भी बात छुपाएं नहीं, अपने सबसे प्रिय व भरोसेमंद व्यक्ति से अपने दिल की बात साझा करें।

उन्होंने बताया कि इस अभियान को आगे बढाया जाएगा तथा प्रत्येक स्कूल से एक शिक्षक को प्रशिक्षित किया जाएगा, ताकि रोजमर्रा में भी बच्चों में यह जागरुकता विकसित हो। इस दौरान कलक्टर ने बच्चों को व्यक्तित्व विकास के टिप्स दिए और कहा कि पढाई के साथ-साथ खेल व अन्य सह शैक्षणिक गतिविधियां भी महत्त्वपूर्ण हैं, इसलिए परीक्षा के बाद ग्रीष्मकालीन अवकाश में अपनी किसी हॉबी पर काम करें। न्यूज पेपर व लाइब्रेरी की किताबें पढने की आदत विकसित करें।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव राजेश कुमार दडिय़ा ने चंदन व्यापारी और राजा की रोचक कहानी के जरिए बच्चों को समझाया कि व्यक्ति का भाव महत्त्वपूर्ण है। गलत भाव के साथ कोई व्यक्ति आपको देखता है तो वह भी बैड टच ही है। उन्होंने इससे जुड़े कानूनी प्रावधान भी बताए। आईसीडीएस उपनिदेशक संजय कुमार, प्रधानाध्यापक सरोज सैनी ने भी विचार रखे।

Next Story
Share it