Action India

जल शक्ति विभाग के स्थाई कर्मचारियों ने किया अस्थाई कर्मचारियों की हड़ताल का समर्थन

जल शक्ति विभाग के स्थाई कर्मचारियों ने किया अस्थाई कर्मचारियों की हड़ताल का समर्थन
X

कठुआ । एक्शन इंडिया न्यूज़

जल शक्ति कर्मचारी युनाइटेड फ्रंट के बैनर तले जल शक्ति विभाग कठुआ के स्थाई कर्मचारियों ने अस्थाई कर्मचारियों के समर्थन में कामकाज ठप रखकर 1 दिन का धरना दिया। बुधवार को धरने का नेतृत्व करते हुए कठुआ पीएचई विभाग यूनियन के प्रधान कुलदीप राज ने अस्थाई कर्मचारियों को नियमित करने और उनका बकाया वेतन जल्द जारी करने की सरकार से अपील की। उन्होंने प्रदेश के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से आग्रह किया कि दैनिक वेतन भोगियों की हड़ताल के कारण स्थाई कर्मचारियों को 12 से 18 घंटे दो से तीन स्टेशनों पर काम करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि अस्थाई कर्मचारियों की हड़ताल की वजह से स्थाई कर्मचारियों से दिन रात काम लिया जा रहा है।

स्थाई कर्मचारियों ने कहा कि जल शक्ति विभाग के नौकरशाह तानाशाही रवैया अपना रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले 32 दिन से अस्थाई कर्मचारियों की हड़ताल से उन्हें कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने एक बार भी अस्थाई कर्मचारियों का हाल नहीं जाना। उन्होंने कहा कि 32 दिन से स्थाई कर्मचारियों से 18 घंटे काम लिया जा रहा है। 5 स्टेशनों की जिम्मेवारी एक कर्मचारी पर बोझ डाला जा रहा है।

उन्होंने कहा कि अगर इसके विरोध में उच्च अधिकारियों से बात करते हैं तो छोटे कर्मचारियों को तबादला करने या नौकरी से निकालने की धमकी देते हैं। उन्होंने कहा कि आज का प्रदर्शन अफसर शाह और यूपी सरकार को जगाने का है ताकि वह इस पर कड़ा संज्ञान लें। उन्होंने कहा कि जनसाधारण को पीने का पानी नहीं मिल रहा। अस्थाई कर्मचारियों के लगातार 32 दिन के धरने प्रदर्शन की वजह से जिले भर में पेयजल आपूर्ति प्रभावित हो चुकी है।

पेयजल को लेकर जिले भर में लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों ने मांग करते हुए कहा कि पीएचई विभाग में पिछले 25 वर्षों से जो अस्थाई कर्मचारी अपनी सेवाएं दे रहे हैं उन्हें नियमित किया जाए और उनका बकाया वेतन भी जल्द जारी किया जाए। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर अस्थाई कर्मचारियों को नियमित नहीं किया गया और बकाया वेतन जारी नहीं किया गया तो आने वाले दिनों में जल शक्ति विभाग के कर्मचारी भी अस्थाई कर्मचारियों के समर्थन में हड़ताल करेंगे। इस अवसर पर हरबंस लाल, राजेंद्र कुमार, राकेश कुमार, शिवरतन, शिवराम, धारा नाथ, त्रिलोकचंद, प्रीतम चंद, रमेश चंद सहित अन्य स्थाई कर्मचारी मौजूद रहे।

Next Story
Share it