Action India
झारखंड

बरकाकाना रेलवे साइडिंग पर वर्चस्व की लड़ाई, ग्रामीणों ने रैक लोडिंग अनलोडिंग कार्य पर लगाई रोक

बरकाकाना रेलवे साइडिंग पर वर्चस्व की लड़ाई, ग्रामीणों ने रैक लोडिंग अनलोडिंग कार्य पर लगाई रोक
X

रामगढ़ ।

जिले में रेलवे साइडिंग पर वर्चस्व की लड़ाई खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। 1 महीने पहले गोला रेलवे साइडिंग पर झामुमो जिलाध्यक्ष ने वर्चस्व कायम करने के लिए जंग शुरू किया था। वहां फतह हासिल करने के बाद बरकाकाना रेलवे साइडिंग पर भी उन्होंने अपनी धाक जमाना शुरू कर दी है। उनके इस वर्चस्व को खत्म करने के लिए दूसरे ठेकेदार और स्थानीय ग्रामीण विरोध कर रहे हैं।

सोमवार को बरकाकाना जंक्शन के 10 नंबर रेलवे साइडिंग पर इसी वर्चस्व को लेकर मारपीट और पथराव की घटना हो गई। पथराव में झामुमो के नेताओं के गाड़ियों के शीशे टूट गए हैं। रेलवे साइडिंग में रैक लोडिंग- अनलोडिंग को लेकर बवाल मच गया है। आज से इस रेलवे साइडिंग में रैक लोडिंग-अनलोडिंग का काम झामुमो जिला अध्यक्ष विनोद किस्कु की कंपनी किस्कु कंट्रक्शन को मिल गया है।

किस्कू कंपनी ने आज सुबह से रेलवे साइडिंग में बाहर से आने-जाने वाले मालगाड़ी से कोयला व स्पंज आयरन लोडिंग-अनलोडिंग का काम चालू दिया है। स्थानीय छोटकाकाना के सैकड़ों ग्रामीणों ने बाहर के मजदूरों से काम लेने के विरोध में यहां हंगामा कर दिया। इस क्रम में ग्रामीणों ने पथराव करते हुए हाइवा, बोलेरो व कार सहित कई वाहनों की तोड़-फोड़ करते हुए रैक का काम को रोक दिया।

इससे रेलवे साइडिंग में तनाव की स्थिति कायम हो गई है। स्थानीय ग्रामीण बाहर की कंपनी को किसी भी हाल में काम नहीं करने देने की जिद पर अड़े हुए हैं। घटना की सूचना पाकर बरकाकाना रेलवे के आरपीएफ, जीआरपी व बरकाकाना ओपी पुलिस रेलवे साइडिंग पहुंच गए हैं। ग्रामीणों के विरोध के बाद रेलवे साइडिंग में रैक लोडिंग-अनलोडिंग का काम बंद हो गया है।

Next Story
Share it