Top
Action India

फैक्ट्री श्रमिक की मौत का मामला: अस्पताल मेें धरना प्रदर्शन जारी

जोधपुर। एएनएन (Action News Network)

पाली जिले में एक फैक्ट्री में संदिग्ध रूप से श्रमिक के घायल और इलाज के दौरान मौत होने के मामले में उसका शव शुक्रवार तीसरे दिन भी नहीं उठाया गया। परिजनों और परिचितों ने आरोपित फैक्ट्री संचालक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने और मुआवजा देने की मांग पर आज तीसरे दिन भी एमडीएम अस्पताल की मोर्चरी के बाहर धरना देकर प्रदर्शन किया। उन्होंने आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का पुतला भी फूंका।

जानकारी अनुसार सोजत सिटी थाने में दी रिपोर्ट में मृतक के बहनोई राणावास निवासी प्रेमप्रकाश पुत्र दीपाराम मेघवाल ने बताया कि सोजत सिटी निवासी उसका साला दिनेश कुमार पुत्र बस्तीराम मेघवाल नरेश गहलोत के पत्थर कटिंग की मशीन पर काम करता था। गत 29 फरवरी को वह काम पर गया जहां पैसों के लेनदेन को लेकर उसका मालिक नरेश गहलोत के साथ विवाद हुआ। तब उसने मशीन के किसी औजार से हमला कर दिया।

गंभीर रूप से घायल दिनेश को मालिक ने सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए ले जाने की बजाए जोधपुर के मेडीपल्स अस्पताल में भर्ती कराया जहां दो तीन दिन इलाज कराया और परिजनों को पुलिस कार्रवाई नहीं करने की सलाह दी लेकिन दिनेश की तबीयत बिगडऩे और खर्चा बढऩे पर उसने हाथ झटक दिए तब परिजन उसको इलाज के लिए तीन मार्च को एमडीएम अस्पताल लेकर आए। यहां अगले दिन उसने चार मार्च की दोपहर को दम तोड़ दिया।

मृतक के बहनोई ने बताया कि दिनेश की मौत के बाद भी उसका मालिक नरेश गहलोत अपने पांच सात लोगों के साथ मोर्चरी के पास पहुंचा और मामले को रफा दफा करने की एवज में दो से तीन लाख रुपये देने का प्रलोभन दिया। परिजन नहीं माने तो उन्होंने बदतमीजी की और मौके से चला गया। बहनोई ने आरोपित मालिक के खिलाफ हत्या और जातिगत शब्दों से अपमानित करने का मुकदमा दर्ज करने एवं मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम के साथ मुआवजे की मांग की।

इधर दलित समाज से जुड़े युवक की हत्या की जानकारी मिलते ही पाली और जोधपुर के समाज के लोग एमडीएम मोर्चरी के बाहर एकत्र हो गए और उन्होंने वहां पर ही धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। मृतक के परिजनों और समाज के लोगों ने आरोपित के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने और मृतक की बुजुर्ग मां को मुआवजा दिलाने व बहन को सरकारी नौकरी देने की मांग करते हुए प्रदर्शन किया।

Next Story
Share it