Top
Action India

मीडिया के बल पर प्रभावी हुआ कोरोना प्रोटोकॉल और लॉकडाउन : डीएम

मीडिया के बल पर प्रभावी हुआ कोरोना प्रोटोकॉल और लॉकडाउन : डीएम
X

बेगूसराय । एक्शन इंडिया न्यूज़

वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव के लिए किए गए लॉकडाउन का अनुपालन कराने में सबसे बड़ी भूमिका मीडिया की रही। डंडा के बल पर लॉकडाउन का पालन नहीं कराया जा सकता था। इसके लिए जागरूकता जरूरी थी और मीडिया कर्मियों ने इसमें सबसे बड़ी भूमिका निभाई। यह बातें डीएम अरविन्द कुमार वर्मा ने सोमवार को प्रेस दिवस के अवसर पर कारगिल विजय भवन में आयोजित परिचर्चा की अध्यक्षता करते हुए कही।

डीएम ने कहा कि लॉकडाउन के अनुपालन में मीडिया ने जो सकारात्मक भूमिका निभाई, उसके कारण बेगूसराय में कोरोना का कहर कम हुआ। बाहर से जो छात्र और श्रमिक आए उनके बारे में भी, उन्हें भी काफी जागरूक किया गया। जहां प्रशासन नहीं पहुंच पाती थी, वहां की बातें सकारात्मक तरीके से सामने लाकर मीडिया कर्मियों ने व्यवस्थाओं को दुरुस्त कराया। होम आइसोलेशन का प्रावधान लागू करने में भी महती भूमिका रही। स्वास्थ्य विभाग, पुलिस प्रशासन और जिला प्रशासन की टीम सिक्योरिटी के साथ अपना काम कर रही थी। लेकिन मीडिया कर्मियों ने सभी खतरों को धता बताते हुए बगैर सिक्योरिटी के काम किया।

इस दौरान मीडिया कर्मी संक्रमित भी हुए, लेकिन अपने कर्तव्य से विमुख नहीं हुए। सेल्फ रेगुलेशन सही तरीके से लागू कराया, लोगों को भ्रमित नहीं होने दिया। डीएम ने कहा कि जब तक कोरोना का वैक्सीन नहीं आ जाता है, सही इलाज नहीं आ जाता है, प्रोटोकॉल का पालन करना होगा, सतर्क रहना होगा। छठ के दौरान बड़ी संख्या में बाहर से लोग आ रहे हैं, खासकर दिल्ली से आने वाले लोगों के प्रति सतर्कता बरतनी होगी। खतरे को समझते हुए एडवाइजरी का पालन करना होगा। घर में पूजा करें और अगर घाट पर जाएं तो सामाजिक दूरी का अनुपालन जरूर करें।

इस अवसर पर डीएम ने कोरोना संक्रमित होने वाले दो पत्रकार कुंदन कुमार एवं हरेराम दास को कोरोना वॉरियर्स प्रमाण पत्र एवं अंग वस्त्र से सम्मानित किया। इससे पहले परिचर्चा 'कोविड-19 महामारी के दौरान मीडिया की भूमिका और मीडिया पर इसका प्रभाव' का विषय प्रवेश वरिष्ठ पत्रकार श्रीकृष्ण मिश्र ने करवाया। उन्होंने कहा कि जागरूकता कार्यक्रम और प्रोटोकॉल की जानकारी हर लोगों तक पहुंचाना हमारा दायित्व है। दूसरों को बताने के साथ हमें भी प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए। कोरोना के दौर में मीडिया पर प्रभाव नहीं बहुत बड़ा कुप्रभाव पड़ा है, जिससे उबर रहे हैं।

परिचर्चा को संबोधित करते हुए पत्रकार संघ के अध्यक्ष प्रो. शालिग्राम सिंह, विनोद कर्ण, वरिष्ठ पत्रकार विपिन कुमार मिश्र आदि ने कहा कि मानवीय सभ्यता के सबसे बड़ी त्रासदी का दौर चल रहा है। स्थिति को नियंत्रित करने में हमने भूमिका निभाई है। बीमार रहकर भी हम सकारात्मक समाचार लोगों तक पहुंचा रहे हैं। प्रशासन को सहयोग करने के साथ-साथ समाज हित में काम कर रहे रहे हैं। मीडिया जगत कोरोना से प्रभावित हुआ है और हम चुनौती को अवसर में बदलने का प्रयास भी कर रहे हैं। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ पत्रकार प्रवीण कुमार ने किया।

Next Story
Share it