Action India

कमलनाथ के आरोपों पर शिवराज का करारा जवाब

कमलनाथ के आरोपों पर शिवराज का करारा जवाब
X

भोपाल । एक्शन इंडिया न्यूज़

चुनाव आयोग द्वारा कमलनाथ से स्टार प्रचारक का दर्जा छीन लेने के बाद प्रदेश की राजनीति में गरमा गई है। कांग्रेस चुनाव आयोग की कार्रवाई अलोकतांत्रिक बता रही है और सुप्रीम कोर्ट जाने की बात कह रही है। इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा है कि अब जनता फैसला करेगी। यह मेरी आवाज को रोकने का, दबाने का प्रयास है। कांग्रेस की आवाज को कुचलने का प्रयास है। सत्य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं। जनता सच्चाई का साथ देगी। कमलनाथ के इस बयान पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पलटवार किया है।

सीएम शिवराज ने शनिवार को मीडिया को बयान देते हुए कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि यह कमलनाथ की हताशा और निराशा का प्रतीक है, लेकिन उनका अहंकार नहीं जाता। कमलनाथ जी की नजरों में बाकी सब गलत है, उनकी नजरों में उनके नेता राहुल गांधी भी गलत है, उन्हें कोई समझा देता है। उनकी नजरों में चुनाव आयोग गलत है, उनकी नजरों में कर्मचारी अधिकारी गलत है, सही कौन है।

उन्होंने कहा कि कमलनाथ धमकाने वाली भाषा में बात करते है, अधिकारियों को देख लूंगा, कर्मचारियों से निपट लूंगा, क्या निपटोगे। सीएम शिवराज ने कहा कि सबसे बड़ी जनता होती है और अधिकारी- कर्मचारियों का भी आत्मसम्मान होता है। उन्होंने नसीहत देते हुए कहा कि यह धमकाना चमकाना बंद करों, मप्र प्रेम की भाषा जानता है। अब चुनाव आयोग ने भी किया तो बदले की भावना से किया, संवैधानिक संस्था पर आरोप लगाते हुए आपकों लज्जा नहीं आती है।

कमलनाथ द्वारा भाजपा पर हार से हताश होकर इस तरह की कार्रवाई के आरोपों पर सीएम शिवराज ने कहा कि भाजपा शानदार सफलता हासिल कर रही है। कमलनाथ जी का दर्द है कि सत्ता चली गई और सत्ता भी कोई जनकल्याण और विकास के लिए नहीं थी, मप्र को लूटने सत्ता अपने पास रखी थी। मप्र को दलालों की मंडी बना दिया था और इसलिए उन्हें यह दुर्दिन देखने पड़े, कम से कम अब तो समझे।

Next Story
Share it