Top
Action India

बीस माह में दिवालियापन के बाद किस मुंह से वोट मांगने जा रही कांग्रेस- शेखावत

बीस माह में दिवालियापन के बाद किस मुंह से वोट मांगने जा रही कांग्रेस- शेखावत
X

जयपुर । एक्शन इंडिया न्यूज़

पूर्व नगरीय विकास एवं स्वायत्त शासन मंत्री राजपाल सिंह शेखावत ने कांग्रेस सरकार पर कानून व्यवस्था को लेकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत ने कानून व्यवस्था को मेन्टेन करने के बजाय अपनों पर राजद्रोह का केस लगाकर अपनों की जासूसी कराते रहे। अपनी ही सरकार में अपने लोगों के खिलाफ एसीबी एवं एसओजी का इस्तेमाल किया। उन्होंने कहा कि ऐसे में प्रदेश में कानून व्यवस्था बेहाल होना लाजिमी है।

शेखावत मंगलवार को भाजपा प्रदेश मुख्यालय पर पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे, इस अवसर जयपुर शहर सांसद रामचरण बोहरा भी मौजूद थे। शेखावत ने कहा कि कांग्रेस सरकार के सत्ता में आने के बाद 20 महीनों में पौने पांच लाख से ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज हुए है, जिनमें 12 हजार से भी ज्यादा मामले दलितों के विरूद्ध दर्ज हुए है। 19 महानगरों में महिलाओं के प्रति अपराधों में जयपुर का चौथा स्थान है। आदिवासियों के प्रति अत्याचारों के मामले में 64.10 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ राजस्थान देश में दूसरे नम्बर पर है। इन आपराधिक घटनाओं के कारण प्रदेश के शहरों की ग्रोथ रूकी हुई है।

जीरो सेट बैक निर्माण के प्रावधानों को लेकर शेखावत ने कहा कि जीरो सेटबैक की स्थिति में बीमारियों को बढ़ावा मिलेगा। 20 महीने की अराजकता, दिवालियापन के बाद कांग्रेस किस मुंह से वोट मांगने के लिए जाएगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अब जनता की तलवार के नीचे आई है, अब कांग्रेस का वही हश्र होगा, जो बकरे का होता है। शेखावत ने कहा कि लैण्ड पूलिंग एक्ट के माध्यम से जमीनों को आधे दामों पर बेचने का काम कर रही है। साथ ही पृथ्वीराज नगर में नियमन के कैम्प लगाकर पैसे बटोरने का काम कर अधिकारियों एवं कर्मचारियों को तनख्वाह देने का काम कर रही है, ऐसे में राजधानी सहित प्रदेश का विकास कैसे होगा।

जयपुर शहर सांसद रामचरण बोहरा ने बागियों को बाहर का रास्ता दिखाये जाने पर कहा कि कांग्रेस ने किस बागी को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित किया है, जिसकी सूची आपने जारी ही नहीं की। आपको यही नहीं पता कि आपका कार्यकर्ता कौन है और पदाधिकारी कौन है, तो आप निष्कासित किसे कर रहे हैं।

Next Story
Share it