Top
Action India

शुद्ध के लिए युद्ध अभियान: कहीं फफूंद लगे अखरोट मिले तो कहीं अवधि पार खाद्य सामग्री

शुद्ध के लिए युद्ध अभियान: कहीं फफूंद लगे अखरोट मिले तो कहीं अवधि पार खाद्य सामग्री
X

जयपुर । एक्शन इंडिया न्यूज़

त्योहारी सीजन में मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए जयपुर जिला प्रशासन द्वारा 26 अक्टूबर से 14 नवम्बर तक चलाए जा रहे '' शुद्ध के लिए युद्ध अभियान'' के पहले दिन सोमवार को खाद्य निरीक्षकों की टीमों ने जौहरी बाजार, बनीपार्क, चाकसू, चीथवाड़ी चौमूं एवं झालाना कच्ची बस्ती में कार्रवाई की।

अतिरिक्त जिला कलक्टर चतुर्थ एवं अभियान के प्रभारी अशोक कुमार ने बताया कि जिला कलक्टर अन्तर सिंह नेहरा ने त्योहारी सीजन में उपभोक्ताओं को शुद्ध खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने की सुनिश्चितता के लिए चार टीमों का गठन किया है। साथ ही जिला स्तरीय प्रबन्ध समिति का भी गठन किया गया है। यह समिति जांच दलों द्वारा की गई कार्यवाही, दर्ज एफआईआर सहित इसके सभी पक्षों की समीक्षा करेगी।

अशोक कुमार ने बताया कि सोमवार को मैसर्स दूध मिष्ठान भंडार झोटवाड़ा रोड, मीरा मार्ग बनीपार्क के मावा व रसगुल्ला का एक-एक नमूना लिया गया। यहां फर्म के स्टोर में विभिन्न फ्लेवर की अवधिपार 43 बोतलें पायी गईं। इन्हें मौके पर ही नष्ट करवाया गया। इसके अलावा यहां अवधिपार 42 सील्ड पैक फूड कलर के डिब्बे (100 ग्राम) भी पाए गए जिन्हें मौके पर नष्ट करवाया गया। यहां 10 किलोग्राम फंगस युक्त अखरोट भी नष्ट करवाए गए एवं उपयोग में लिए जा रहे मावा की जांच डेयरी प्रतिनिधि द्वारा स्पॉट टैस्ट से करवाई गई।

द्वितीय कार्यवाही मैसर्स लक्ष्मी मिष्ठान भण्डार, जौहरी बाजार के यहां की गई। यहां से मावा एवं कलाकंद के नमूने लिए गए। यहां स्टोर में 6 बोतल सिरका अवधिपार पाया गया, जिसे मौके पर ही नष्ट करवाया गया। मावा की जांच डेयरी प्रतिनिधि द्वारा स्पॉट टेस्ट से की गई। वहीं खाद्य निरिक्षकों की दूसरी टीम ने मैसर्स के.डी.मिल्क प्रोडक्ट्स चीथवाडी चौमूं से मिल्क पाउडर का नमूना लेकर फर्म के मालिक को मिल्क पाउडर मावा निर्माताओं को विक्रय नहीं करने के लिए पाबन्द किया। जांच दल द्वारा सरसों के तेल के दो नमूने लेकर 251 पीपे सरसों तेल जब्त किया गया। इसमें फर्म मैसर्स राजेश ट्रेडर्स संजीवनी स्कीम निमोडिया रोड चाकसू के यहां से कुल 3765 किलो सरसों तेल जब्त किया गया।

अतिरिक्त जिला कलक्टर ने बताया कि शिकायत के आधार पर मैसर्स ओम बन्ना मिष्ठान भण्डार (कारखाना) से डिंगा वाला की ढाणी खोनागोरियान जगतपुरा से स्वीट केक का नमूना लिया गया। इसी तरह कच्ची बस्ती झालाना से मैसर्स बजरंग डेयरी से घी का नमूना लिया गया।

उन्होंने बताया कि अभियान के अंतर्गत दूध से बने उत्पादों को जैसे- मावा, पनीर, अन्य दुग्ध उत्पादों की जाँच, आटा-बेसन, खाद्य तेल एवं घी, सूखे मेवे, मसाले, बाट एवं माप की जाँच को प्राथमिकता दी जायेगी। जांच दलों में उपखण्ड अधिकारी, पुलिस निरीक्षक, खाद्य सुरक्षा अधिकारी, विधिक-माप विज्ञान अधिकारी सहित अन्य अधिकारियोें का एक संयुक्त दल बनाया गया है।

इस दल द्वारा खाद्य पदार्थों का समय-समय पर निरीक्षण कर नमूना लिया जायेगा एवं नमूनों की फूड टेस्टिंग लैब में जांच करवाकर आवश्यक विधिक कार्रवाई की जायेगी। मिलावटखोरों की सूचना देने के लिए कंट्रोल रूम नम्बर भी जारी किये गये है।

Next Story
Share it