Top
Action India

यमुनानगर में निगम कर्मी मांगों को लेकर तीन दिन की भूख हडताल पर

यमुनानगर में निगम कर्मी मांगों को लेकर तीन दिन की भूख हडताल पर
X

यमुनानगर । एक्शन इंडिया न्यूज़

सरकार द्वारा कर्मचारियों की मांगो पर सहमति के बावजूद नगरपालिका और अग्निशमन के पेरोल व पक्के कर्मचारियों ने शाखा प्रधान राजकुमार धारीवाल की अध्यक्षता में पहले दिन की 24-24 घण्टे की भूख हड़ताल शुरू की कर्मचारियों को गले मे फूलो की मालाओं को पहनाकर बिठाया गया। उसके बाद हड़ताली कर्मचारियों ने सरकार के विरोध में जमकर विरोध प्रदर्शन किया व नारेबाजी की। ये भूख हड़ताल 28 अक्टूबर को शुरू होकर 30 अक्टूबर को खत्म होगी।

हड़ताली कर्मचारियों को संबोधित करने आए महासचिव मांगे राम तिगरा व प्रेस सचिव गुलशन भारद्वाज ने बताया कि सरकार के साथ संघ प्रतिनिधिमंडल के साथ की दौर की बातचीत में स्थानीय निकाय मंत्री अनिल विज द्वारा संघ को जिन मांगो पर भरोसा दिलाया था। कोरोना से मृत्यु पर कर्मचारी को 50 लाख रुपए का आर्थिक मुवावजा व परिवार के सदस्य को एक सरकारी नौकरी,4000 रुपये मासिक जोखिम भत्ता,1046 फायर ऑपरेटर की भर्ती को निरस्त करना सहित अन्य मांगो पर सहमति बनी थी।

बावजूद उसके सरकार कर्मचारियों की मांगो को मानने के बावजूद तृतीय चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों की छंटनी करके उन्हें बेरोजगार कर रही है। नवनियुक्त क्लर्को की भर्ती के बाद निगमो पालिकाओं में पहले से लगे ठेका क्लर्को को बाहर निकालने का कार्य शुरू कर दिया। इसके इलावा अभी हाल ही में गुरुग्राम में क्लर्को तृतीय व चतुर्थ श्रेणी के 450 के करीब कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। जिसके बाद ये सभी कर्मचारी काफी दिनों से आंदोलन कर रहे है।



Next Story
Share it