Top
Action India

किसानों को दिया यथास्थन फसल अवशेष प्रबंधन बारे प्रशिक्षण

किसानों को दिया यथास्थन फसल अवशेष प्रबंधन बारे प्रशिक्षण
X

फतेहाबाद । एक्शन इंडिया न्यूज़

कृषि विज्ञान केन्द्र फतेहाबाद द्वारा यथास्थान फसल अवशेष प्रबंधन प्रोजेक्ट के तहत 5 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन केन्द्र पर किया गया। यह प्रशिक्षण गोद लिए हुए गांव भिरड़ाना व धोलू के किसानों के लिए आयोजित किया गया। इस प्रशिक्षण में केन्द्र के वरिष्ठ संयोजक डॉ. लक्ष्यवीर बैनिवाल ने किसानों से आह्वान किया कि वे फसल अवशेष को जलाने की बजाय उसका प्रबंधन मशीनों द्वारा करें ताकि जमीन की उर्वरा शक्ति बढ़े और मित्र कीट व सूक्ष्म जीवों की संख्या बढ़े।

इस दौरान चौ. चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय से आए अभियंता डॉ. अनिल सिरोहा ने किसानों को फसल अवशेष प्रबंधन करने वाले कृषि यंत्रों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। पौध रोग विशेषज्ञ डॉ. कुशल राज ने फसलों में आने वाली बीमारियों के बारे में बताया और किसानों से आग्रह किया कि वे बिजाई बीज उपचार के बाद ही करें।

कीट वैज्ञानिक डॉ. दलीप ने फसलों में आने वाले कीटों के बारे में बताया वहीं मृदा वैज्ञानिक डॉ. संतोष कुमार ने यथास्थान फसल अवशेष प्रबंधन से मृदा स्वास्थ्य को होने वाले लाभों बारे जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पराली को जमीन में मिलाने से पोषक तत्वों की मात्रा बढ़ती है, साथ ही मृदा की भौतिक, रसायनिक व जैविक गुणों में बढ़ोतरी होती है।

Next Story
Share it