Top
Action India

पर्यावरण को क्षति पहुंचाने वाले उद्योगों पर होगा 25 लाख जुर्माना

पर्यावरण को क्षति पहुंचाने वाले उद्योगों पर होगा 25 लाख जुर्माना
X

पानीपत। एएनएन (Action News Network)

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने (सीपीसीबी) प्रदूषण को नियंत्रित करे के लिए एक्शन प्लान तैयार किया है। प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों पर मोटा जुर्माना लगाया जाएगा। जिस उद्योग स्थलों के सामने खाली मैदान होगा वहां पर पानी का छिड़काव कराना भी अनिवार्य कर दिया गया है, यदि पानी का छिड़काव नहीं किया गया तो जिम्मेदार उद्योग संचालक जुर्माना किया जाएगा।

प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के लिए एक्शन प्लान तैयार किया है। एक्शन प्लान में प्रदूषण का अलग-अलग ग्रेड निर्धारित किया गया है और इसी ग्रेड के अनुसार प्रदूषण फैलाने यानि पर्यावरण की हानि यानि पर्यावरणीय क्षतिपूर्ति की यानि जुर्माना की राशि तय कर दी है।

सीपीसीबी के मानकों का उल्लंघन करने पर उद्योगों को अधिकतम एक करोड़ रुपये की क्षतिपूर्ति राशि बोर्ड कार्यालय में जमा करानी होगी। स्मरणीय है कि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के तमाम प्रयासों के बावजूद प्रदूषण घटने के बजाय बढ़ता ही जा रहा है, हालांकि हवा बहने व हलकी फुलकी बारिश होने से प्रदूषण कम हुआ है।

इधर एनसीआर के तहत आने वाले पानीपत, सोनीपत, बहादुरगढ़, गुरुग्राम और फरीदाबाद में तमाम प्रयासों के बावजूद पीएम 2.5 पीएम 10 और एयर क्वालिटी इंडेक्स में कोई खास सुधार नहीं हो रहा है। सीपीसीबी ने एनसीआर में प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों के लिए ग्रेडिंग रिस्पांस सिस्टम एक्शन प्लान (जीआरएसएपी) तैयार किया है।

Next Story
Share it