Action India
अन्य राज्य

केरल, राजस्थान व कर्नाटक से अपने घर पलामू पहुंचे 271 प्रवासी मजदूर

केरल, राजस्थान व कर्नाटक से अपने घर पलामू पहुंचे 271 प्रवासी मजदूर
X

मेदिनीनगर । एएनएन (Action News Network)

सरकार की मदद से मंगलवार को अहले सुबह कोझीकोड (केरल), नागौर (राजस्थान) तथा कोलार (कर्नाटक) से 271 मजदूर मंगलवार को अपने घर पलामू पहुंचे। जीएलए कॉलेज में बनाए गए सहायता केंद्र में मौजूद जिला प्रशासन के पदाधिकारियों ने मजदूरों का स्वागत किया। बताते चलें कि कोझीकोड, केरल से 19 मजदूर धनबाद के रास्ते, नागौर (राजस्थान) से 162 मजदूर बरकाकाना के रास्ते तथा कोलार (कर्नाटक) से 90 मजदूर हटिया के रास्ते पलामू पहुंचे।

उपायुक्त डॉ शांतनु कुमार अग्रहरि के निर्देश पर जिला प्रशासन द्वारा क्रमशः धनबाद, बरकाकाना तथा हटिया स्टेशन पर बसों को भेजकर मजदूरों को पलामू लाया गया। पलामू आने के पश्चात मजदूरों की जीएलए कॉलेज में बनाए गए सहायता केंद्र मैं चिकित्सकों के द्वारा मेडिकल स्क्रीनिंग की गई। इस दौरान चिकित्सकों की टीम के द्वारा इंफ्रारेड थर्मामीटर के माध्यम से मजदूरों के बॉडी टेंपरेचर को नापा गया।

साथ ही साथ खासी, बुखार जैसे लक्षण की भी स्क्रीनिंग की गई। जांच उपरांत ठीक पाए जाने पर मजदूरों के हाथों में होम क्वारंटाइन का मोहर लगा उन्हें होम क्वारंटाइन में भेजा गया। होम क्वॉरेंटाइन में मजदूरों को 14 दिनों तक रहने का निर्देश दिया गया है। जिला समाज कल्याण पदाधिकारी आफताब आलम ने बताया कि जीएलए कॉलेज में बनाए गए सहायता केंद्र में दूसरे राज्यों से आ रहे प्रवासी मजदूरों के लिए विभिन्न सुविधाओं की व्यवस्था की गई है। सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन हो इसके लिए उपायुक्त के निर्देश पर सभी काउंटरों के आगे सामान दूरी पर सर्किल बनाकर चिन्हित किया गया है।

विदित हो कि मंगलवार अहले सुबह पलामू पहुंचे 271 प्रवासी मजदूरों में सदर मेदिनीनगर के 40, लेस्लीगंज के 8, तरहसी के 9, पांकी के 25, मनातू के 14, पाटन के 17, पंडवा के 2, छत्तरपुर के 26, नौडीहा बाजार के 1, विश्रामपुर के 9, उंटारी रोड के 4, पाण्डु के 28, हरिहरगंज के 10, नाव बाजार के 1, पिपरा के 3, हुसैनाबाद के 21, हैदरनगर के 16, मोहम्मदगंज के 6, चैनपुर के 14, रामगढ़ के 9 तथा सतबरवा के 8 मजदूर शामिल हैं। मेडिकल स्क्रीनिंग के बाद मजदूरों को संबंधित प्रखंडों के काउंटर भेजा जा रहा था। वहां मजदूरों को उनके प्रखंड जाने वाले वाहनों का नंबर बताया जा रहा था। इसके अलावा प्रखंड के काउंटरों पर मजदूरों से 'आरोग्य सेतु'एप डाउनलोड तथा इंस्टॉल कराया गया। तत्पश्चात सभी मजदूरों को उनके प्रखंडों में जिला प्रशासन के द्वारा पहुंचाया गया। इसके लिए जिला प्रशासन के द्वारा 13 बसों को संबद्ध किया गया था।

Next Story
Share it