Action India
अन्य राज्य

उप्र में कोरोना के 3,231 सक्रिय मामले, अब तक 5,078 मरीज इलाज से हुये ठीक

उप्र में कोरोना के 3,231 सक्रिय मामले, अब तक 5,078 मरीज इलाज से हुये ठीक
X

  • पिछले चौबीस घंटे में संक्रमण के 348 नये मामले आये सामने

लखनऊ । एएनएन (Action News Network)

प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या अब 75 जनपदों में 3,231 हो गई है। वहीं अब तक 5,078 लोग इलाज के बाद पूरी तरह ठीक होने के बाद घर भेजे जा चुके हैं। बीते चौबीस घंटे में इस बीमारी के 348 नये मामले सामने आये हैं। वहीं अब तक प्रदेश में इस वायरस से कुल 223 मौतें हुई हैं। इस समय प्रदेश में रिकवरी दर 59.51 प्रतिशत है।

सोमवार को 9,575 कोरोना नमूनों की हुई जांच

प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अमित मोहन प्रसाद ने मंगलवार को बताया कि सोमवार को 9,575 कोरोना नमूनों की जांच की गई। रविवार को 8,642 कोरोना नमूनों की जांच की गई। जांच की संख्या लगातार बढ़ायी जा रही है। इसके लिए सभी जनपदों में एक-एक ट्रूनेट मशीन उपलब्ध करायी जा रही हैं। 20 जनपदों को पहले ही इन्हें उपलब्ध कराया जा चुका है। सोमवार को 21 नई ट्रूनेट मशीन आने के बाद जनपदों में भेजा जा रहा है। शेष 34 जनपदों में भी अगले कुछ दिनों में ट्रूनेट मशीन मुहैया करा दी जायेंगी। इन मशीनों के जरिए एक से डेढ़ घंटे में किसी व्यक्ति के कोरोना संक्रमित होने का पता लगाया जा सकता है। इनमें एक बार में दो नूमनों की जांच की जा सकती है। आपातकालीन सेवाओं में ये मशीनें बेहद मददगार साबित होती हैं।

900 पूल के जरिए विभिन्न नमूनों की हुई जांच

उन्होंने बताया कि सोमवार को 900 पूल के जरिए विभिन्न नमूनों की जांच की गई। इनमें 785 पूल के जरिए प्रति पूल पांच-पांच नमूनों की जांच की गई। वहीं 115 पूल के जरिए प्रति पूल दस-दस नमूनों की जांच की गई।इससे पहले रविवार को 958 पूल के जरिए विभिन्न नमूनों की जांच की गई। इनमें 847 पूल के जरिए प्रति पूल पांच-पांच नमूनों की जांच की गई। इनमें 100 पूल पॉजिटिव पाये गये। वहीं 111 पूल के जरिए प्रति पूल दस-दस नमूनों की जांच की गई। इनमें 20 पूल पॉजिटिव पाये गये।

आरोग्य सेतु एप को लेकर 51,451 लोगों को कन्ट्रोल रूम से फोन

उन्होंने बताया कि प्रदेश में 'आरोग्य सेतु' एप डाउनलोड करने वालों के जो अलर्ट मिल रहे हैं, उन्हें सम्बन्धित जनपदों को भेजा जा रहा है। वहीं कन्ट्रोल रूम के जरिए जो लोग संक्रमित लोगों के सम्पर्क में आये हैं, उन्हें फोन करके इसकी जानकारी दे रहे हैं। अभी तक 51,451 लोगों को फोन किया जा चुका है। इनमें 132 लोग संक्रमित हैं और विभिन्न कोविड चिकित्सालयों में उनका इलाज चल रहा है। 63 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं। 2,122 लोग एकांतवास केन्द्रों में हैं।

4.01 करोड़ लोगों के बीच पहुंची स्वास्थ्य टीमें

प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगातार विभिन्न क्षेत्रों में लोगों के बीच पहुंचकर सर्वेश्रण कर रही हैं। अभी तक 3,858 हॉट स्पॉट और 10,097 नॉन हॉट स्पॉट क्षेत्रों को मिलाकर कुल 13,955 क्षेत्रों में 1,01874 सर्विलांस टीम द्वारा 79,06,668 घरों के 4,01,73,231 लोगों का सर्वेक्षण किया गया।

अब तक 11,68,917 प्रवासी कामगारों का सर्वेश्रण

प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य ने बताया कि अब तक आशा कार्यकत्रियों द्वारा 11,68,917 प्रवासी कामगारों का सर्वेश्रण किया जा चुका है। इनमें 1,036 में कोई न कोई लक्षण मिलने पर उन्होंने इसकी सूचना दी, जिसके बाद जांच करायी जा रही है। अभी तक 450 कामगारों की रिपोर्ट प्राप्त हुई है, जिनमें से 119 लोग संक्रमित पाये गये हैं।

आईसीएमआर ने लिये 10 जनपदों में ब्लड सैम्पल

उन्होंने बताया कि इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने सेरो सर्विलांस का प्रोटोकॉल जारी किया है। इसमें खून के नमूने लेकर एलिसा टेस्ट ​के जरिए अंदाजा लगाया जाता है कि लोगों में कितना संक्रमण है। आईसीएमआर द्वारा 10 जनपदों में ब्लड सैम्पल लिये गये हैं। इनके नतीजों की प्रतीक्षा की जा रही है। उन्होंने कहा कि यदि किसी को कोई लक्षण जैसे खांसी, बुखार या सांस लेने में तकलीफ हो रही है तो वह स्वास्थ्य विभाग के हेल्पलाइन नम्बर 1800 180 5145 पर काॅल कर विशेषज्ञ से सलाह ले सकता है। लोगों से अपील की है कि घर से अनावश्यक रूप से न निकलें। संक्रमण से बचाव ही एक मात्र रास्ता है, इस पर सभी लोगों को ध्यान देना चाहिए। साथ ही बुजुर्गों, गर्भवती महिलाओं या जिन लोगों को पहले से कोई बीमारी जैसे डायबिटीज, कैंसर, किडनी आदि की बीमारी है तो इन लोगों से दूर रहें ताकि इन्हें किसी प्रकार का संक्रमण न होने पाए।

Next Story
Share it