Top
Action India

ऐसा शिव मंदिर, जहां मूर्त रूप में विराजमान पीएम मोदी कर रहे हैं 'शिव आराधना'

ऐसा शिव मंदिर, जहां मूर्त रूप में विराजमान पीएम मोदी कर रहे हैं शिव आराधना
X

कौशाम्बी । एएनएन (Action News Network)

चायल तहसील के भगवानपुर गांव में एक ऐसा शिवालय है। जिसके गर्भगृह में स्थापित शिवलिंग के सामने देश के चहेते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मूर्त रूप में स्थापित हैं। वह यहां पर अनवरत भगवान शिव के सामने आराधनारत रहकर लोक कल्याण की ऊर्जा पा रहे हैं।मंदिर के प्रमुख पुजारी बृजेन्द्र नारायण मिश्रा मूर्त रूप में विराजित पीएम मोदी के सेवक बन हवन-पूजन आदि कर्मकांड को सम्पादित करते हैं। यह शिव आराधना का सिलसिला साल 2014 के लोकसभा चुनाव के बिगुल के बाद से सब भी अनवरत जारी है। इसी क्रम में शुक्रवार को महाशिवरात्रि के दिन विशेष पूजन का अनुष्ठान किया गया।

गौरतलब है कि देश के सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेन्द्र दामोदर दास मोदी का जादू उनके प्रशसंकों पर आज से नहीं सर चढ़कर बोल रहा है, बल्कि यह तब से बदस्तूर जारी है जब वह साल 2014 में लोकसभा चुनाव में पीएम पद के उम्मीदवार के रूप में दुनिया के सामने आये थे।
उसी दौरान चायल तहसील की नेवादा ब्लाक के छोटे से गांव भगवानपुर में पीएम मोदी प्रशंसक बृजेन्द्र नारायण मिश्रा ने अपने घर के आँगन में स्थापित प्राचीन शिव मंदिर में पीएम नरेंद्र मोदी की मूर्ति स्थापित कर आराधना का सिलसिला शुरू किया था।

उन्होंने शिवालय का नाम 'नमो-नमो शिव मंदिर' रख दिया था। पीएम मोदी प्रशंसक बृजेन्द्र मिश्रा ने मंदिर में नरेंद मोदी की मूर्ति स्थापित करते हुए उन्हें विकास के भगवान् का दर्जा दिया। बृजेन्द्र मिश्रा बताते हैं कि उन्होंने उस समय पीएम मोदी की प्रतिमा भगवान् शिव के शिवालय में गर्भ गृह में स्थापित कर उनकी लोक कल्याण की भावना को ध्यान में रख शिव आराधना का कर्म शुरू किया, ताकि पीएम मोदी बिना किसी रूकावट के भगवान् शिव से नित ऊर्जा को हासिल करते रहे हैं और जन-कल्याण के कामो में कोई विघ्न बाधा न उत्पन्न हो। इस दौरान बृजेन्द्र मिश्रा ने पीएम मोदी की दीर्घायु के लिए महामृत्युंजय का जाप भी मंदिर परिसर में शुरू किया था, जो आज भी अनवरत सुबह और शाम के समय होता है।

कलयुग का "शबरी" बन आज भी कर रहे है पीएम मोदी का इन्तजार

त्रेतायुग में अपने आराध्य भगवान् राम के चरण कमल के स्पर्श की अभिलाषा में शबरी ने दिन रात अपने आँखे बिछा रखी थी, ठीक वैसे ही पीएम मोदी का प्रशंसक बृजेन्द्र मिश्रा 2014 से आज भी इन्तजार में पलकें बिछाए बैठा है।महाशिवरात्रि को एक विशेष अनुष्ठान के जरिये नमो-नमो मंदिर में यज्ञ और हवन के सिलसिले को जारी रखा। इसके पीछे नमो नमो मंदिर के मुख्य पुजारी व संस्थापक बृजेन्द्र मिश्रा का वह संकल्प है, जिसमें उन्होंने प्राण किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंदिर प्रागण में खुद आकर हांथों से लोक-कल्याणकारी यज्ञ अनुष्ठान को पूर्ण आहुति प्रदान करेंगे।

बृजेन्द्र का कहना है कि उनकी निष्ठा और पूजा से प्रसन्न होकर उनके आराध्य शिव भक्त पीएम मोदी एक न एक दिन आकर उनकी तपस्या को सार्थक जरुर करेंगे। यह वजह है कि वह आज भी सबरी की तरह अपने भगवान की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

Next Story
Share it