Top
Action India

गरीबों और जरूरतमंदों तक लगातार राहत पहुंचाने में लगे हैं विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता

गरीबों और जरूरतमंदों तक लगातार राहत पहुंचाने में लगे हैं विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता
X

बेगूसराय । एएनएन (Action News Network)

लॉकडाउन से उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता लगातार गरीबों और जरूरतमंदों की मदद में जुटे हुए हैं। 25 मार्च से ही विभिन्न स्थानों पर अभियान चलाकर खाद्यान्न सामग्री एवं मास्क वितरण के साथ-साथ सैनिटाइजिंग का भी कार्य जोर-शोर से किया जा रहा है। बुधवार को विद्यार्थी परिषद जिला इकाई द्वारा बेगूसराय के जगदीशपुर, संगोकोठी, चेरिया, रामानंद नगर आदि गांव में घूम-घूम कर दो सौ परिवारों के बीच पांच किलो आटा, तीन किलो चावल, एक किलो दाल, आधा लीटर तेल, आलू, साबुन आदि सामान के पैकेट बांटे गए।

राहत सामग्री वितरण टीम का नेतृत्व करते हुए विद्यार्थी परिषद के पूर्व राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अजीत चौधरी ने कहा कि लॉक डाउन में वैसे लोगों की हालत भी खराब हो गई है जो सामान्य दिनों में अच्छे से जीवन यापन करते थे। एक महीने से घर से बाहर नहीं निकलने से उनकी आमदनी पर विपरीत असर पड़ा है। परिवार की न्यूनतम आवश्यकता को पूरा नहीं कर पाने की स्थिति में बहुत जगहों से लोगों के परेशान रहने की खबर आ रही है। इसलिए विद्यार्थी परिषद उनके मानसिक तनाव को कम करने के लिए राहत सामग्री घरों तक पहुंचा रही है।

प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सोनू सरकार और मृत्युंजय गोलू ने कहा कि विद्यार्थी परिषद इस त्रासदी में उस परिवार तक पहुंच रही है जो कोरोना संकट की स्थिति में भूखों मरने को विवश हैं। राष्ट्र के निर्माण में इनकी भी भूमिका होती है, समाज के जिम्मेदार नागरिक के रूप में हम लोग जीवन यापन हेतु न्यूनतम आवश्यकता के सामानों की निर्बाध आपूर्ति कर रहे हैं। मौके पर दशरथ कुमार और डॉ संजीव कुमार ने बताया कि विश्व के सबसे बड़े छात्र संगठन होने एवं राष्ट्रवाद की भावना के कारण हम अपने आपको इस राष्ट्र के नागरिकों को मदद करने से रोक नहीं पाते हैं। सच्चे देशभक्त की पहचान तभी होती है जब राष्ट्र विपत्ति से घिरा होता है। आज कुछ ऐसी ही परिस्थिति है इसलिए विद्यार्थी परिषद अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभा रही है। मौके पर संजीव, सुमन, गौरव एवं विवेक समेत अन्य्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

Next Story
Share it