Action India
अन्य राज्य

कुशीनगर एयरपोर्ट परिसर में मन्दिर ध्वस्त करने पहुंचे एसडीएम से भिड़े ग्रामीण

कुशीनगर एयरपोर्ट परिसर में मन्दिर ध्वस्त करने पहुंचे एसडीएम से भिड़े ग्रामीण
X

  • विरोध से पीछे हटा प्रशासन -कल मौके आएंगे सांसद, विधायक व डीएम

कुशीनगर । एएनएन (Action News Network)

नवनिर्मित कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट परिसर में स्थित शिव मन्दिर को ध्वस्त करने पहुंचे एसडीएम कसया की बुधवार को दोपहर ग्रामीणों से भिड़ंत हो गई। घण्टों हंगामे के बाद एसडीएम को मौके से लाव लश्कर सहित वापस लौटना पड़ा। प्रशासन के इस कदम से ग्रामीण आक्रोशित हैं।गुरुवार को प्रकरण के निस्तारण के लिए सांसद, विधायक व डीएम ने मौके पर आने की बात पर ग्रामीण शांत हुए। मन्दिर ध्वस्त करने के लिए कसया के एसडीएम देशदीपक सिंह बुधवार को जेसीबी, लोडर व मजदूरों को लेकर पहुंच गए।

उनके साथ पुलिस फोर्स व राजस्व टीम भी थी। पुजारी दीपक का आरोप है कि एसडीएम मन्दिर में जूता पहने ही घुस गए और अपने हाथ से ही त्रिशूल, दानपात्र वगैरह बाहर फेंकने लगे। पुजारी ने इसका विरोध किया और इसकी सूचना गांव में दी। मौके पर पूर्व प्रधान चन्द्रभूषण मिश्रा, रत्नेश मिश्रा, मदन दूबे, पंडा बाबा, राहुल, मनोज आदि ग्रामीणों के साथ नगरपालिका सभासद अशोक जायसवाल पहुंच गए तो पुजारी ने पूरी बात विस्तार से बताई। पुजारी की बात सुन ग्रामीण आक्रोशित हो गए और एसडीएम के कार्य को अनुचित व गैर जिम्मेदाराना बताते हुए विरोध में नारेबाजी करने लगे। स्थिति बिगड़ते देख एसडीएम ने डीएम भूपेश एस चौधरी से बात की तो उन्होंने कार्रवाई स्थगित कर दी।

दूसरी ओर सभासद अशोक जायसवाल ने कहा ऐसे कैसे मन्दिर हटेगा। विधि विधान से मन्दिर में शिवलिंग की प्राण प्रतिष्ठा की गई है। शिवलिंग अन्यत्र स्थापित होगा या विसर्जित ही होगा तो वह भी विधि विधान व शास्त्र सम्मत तरीके से होगा। कायदे से एसडीएम को गांव के लोगों से बात करना चाहिए था। सांसद व विधायक को पूरे प्रकरण से अवगत करा दिया गया है। कल वह लोग आयेंगे तो आगे की बात होगी।

उड़ान पूर्व हटना है मन्दिर

ब्रिटिशकालीन एयरपोर्ट का विस्तार बेलवा दुर्गा राय समेत नौ गांवों की कृषि व सार्वजनिक भूमि का अधिग्रहण कर किया गया है। इस भूमि में शिव मंदिर सहित स्कूल, ट्यूबेल आदि भी हैं। इस एयरपोर्ट से हवाई जहाजों की उड़ान शुरू होनी है। इसके पूर्व शासन ने मन्दिर व स्कूल को परिसर से हटाए जाने का निर्देश दिया है और ध्वस्तीकरण के लिए बजट भी आवंटित कर दिया।
इसी क्रम में एसडीएम मौके पर पहुंचे थे। जहां ग्रामीणों से उनका विवाद हो गया। एसडीएम देश दीपक सिंह ने बताया कि पुजारी का आरोप पूरी तरह निराधार है। उन्होंने पुजारी सहित वहां मौजूद कुछ लोगों से समान वगैरह बाहर निकालने की बात कही थी। कल जिलाधिकारी खुद मौके पर आएंगे।

Next Story
Share it