Action India

बीएड प्रथम, तृतीय सेमेस्टर के मूल्यांकन में मनमानी का आरोप

बीएड प्रथम, तृतीय सेमेस्टर के मूल्यांकन में मनमानी का आरोप
X

परीक्षा नियंत्रक को दिया ज्ञापन

छतरपुर। एएनएन (Action News Network)

महाराजा छत्रसाल बुंदेलखंड विश्वविद्यालय की ओर से आयोजित की गई बीएड प्रथम समेस्टर एवं तृतीय सेमेस्टर की परीक्षा के मूल्यांकन में मनमानी का आरोप लगाया गया है। परीक्षार्थियों का कहना है कि मूल्यांकन में लापरवाही बरती गई है जिस वजह से प्रश्नों के उत्तर देने के बावजूद उन्हें बेहद कम अंक दिए गए हैं। कई परीक्षार्थियों को जीरो अंक भी मिले हैं। उन्होंने सोमवार को ज्ञापन देकर फिर से कॉपियों की जांच कराने की मांग की है।

बीएड परीक्षार्थी राजेश कुमार अहिरवार ने बताया कि प्रथम एवं तृतीय सेमेस्टर के जो परिणाम घोषित किए गए हैं, वे काफी निराशाजनक हैं। सवालों के उत्तर देने के बावजूद कॉपी में जीरो अंक मिले हैं। इस विसंगति की जांच की जानी चाहिए। परीक्षा नियंत्रक को सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया है कि मूल्यांकन सही ढंग से नहीं किया गया है। एक अन्य परीक्षार्थी पार्वती रैकवार ने विवि की कार्यशैली पर आरोप लगाते हुए कहा है कि विवि द्वारा परीक्षार्थियों के हितों से खिलवाड़ किया जा रहा है।

ज्ञापन के दौरान सोनू अहिरवार, दीपक तिवारी, लीला अहिरवार, सपना सुल्लेरे, रीना यादव, मुकेश कुमार अहिरवार, रूबी ताम्रकार, वीरसिंह यादव सहित अन्य लोग मौजूद रहे।इनका कहनामूल्यांकन में कम नंबर मिलने का ज्ञापन प्राप्त हुआ है। ज्ञापन को कुलपति के समक्ष रखा जाकर कमेटी गठित कर नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।डॉ. बहादुर सिंह परमार, परीक्षा नियंत्रक, महाराज छत्रसाल बुंदेलखंड विवि

Next Story
Share it