Top
Action India

अल्मोड़ाः पुलिस ने सोशल मीडिया को बनाया सहयोग का माध्यम, ​समस्याओं का कर रही निस्तारण

अल्मोड़ाः पुलिस ने सोशल मीडिया को बनाया सहयोग का माध्यम, ​समस्याओं का कर रही निस्तारण
X

अल्मोड़ा। एएनएन (Action News Network)

अल्मोड़ा जिले की पुलिस ने लॉक डाउन के दौरान यह साबित कर दिया कि सोशल मीडिया केवल संवाद का माध्यम ही नहीं है बल्कि इसे आकस्मिक परिस्थितियों में मदद का माध्यम भी बनाया जा सकता है।अल्मोड़ा पुलिस लॉक डाउन के दौरान सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्वीटर पर आई समस्याओं का त्वरित निराकरण करने के साथ ही जरूरतमंदों की मदद भी कर रही है। यहीं नहीं, बुजुर्गों की समस्याओं का भी प्राथमिकता से निराकरण किया जा रहा है। ताजा मामले में पुलिस ने ट्वीटर पर आई समस्या को देखते हुए एक व्यक्ति की ​दवा को दिल्ली से मंगाकर सल्ट भेजा तो एक व्यक्ति को घर पर ही आक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराया है। पुलिस की इस भूमिका की लोग अब सराहना कर रहे है।

घटनाक्रम के अनुसार सल्ट के मनोज सतपोली ने अल्मोड़ा पुलिस नाम के ट्वीटर हैंडल पर अपनी समस्या लिखी थी कि उनके पिता सल्ट में फंस गए हैं। उनका उपचार दिल्ली से चलता है और दवा खत्म हो जाने के कारण वह काफी चिंतित हैं। क्या उनकी मदद हो सकती है। ट्वीट आते ही खुद पुलिस ने पहल कर पूरी जानकारी ली और दवा की पर्ची मंगाकर दिल्ली से दवा अल्मोड़ा मंगाकर अल्मोड़ा मुख्यालय लाए और यहां से उसे अपने डाक ड्यूटी वाहन के माध्यम से सल्ट पहुंचाया। उल्लेखनीय है कि मोहित टम्टा नाम के यूजर ने भी अपने पिता की डायबिटीज की दवा खत्म होने की सूचना अल्मोड़ा पुलिस को ट्वीटर हैंडल के माध्यम से दी है।

इधर, लॉक डाउन का एक पखवाड़ा पूरा होने के बाद राज्य में जनजीवन ठहर सा गया है। केवल जरूरी वस्तुओं की दुकाने खुली हैं लेकिन जिनकी दवाइयां बाहर से चलती हैं या उपचार अन्य महानगरों में चल रहा है, उन्हें काफी दिक्कतें आ रही हैं। ऐसे में पुलिस का यह सहयोग रचनात्मक सहयोग बनकर सामने आ रहा है। एसएसपी पी नारायण मीणा ने कहा कि पुलिस इस प्रकार की जरूरी सहायता को प्राथमिकता दे रही है।

उन्होंने कहा कि एक व्यक्ति के आक्सीजन सिलेंडर की जरूरत की समस्या काे भी हल किया गया है। उन्होंने कहा कि पुलिस जरूरतमंदों की मदद को हर समय तैयार है और सोशल मीडिया की लगातार मॉनीटेरिंग कर रही है। उन्होंने कहा कि लोग सोशल मीडिया का सदुपयोग करें। यह ध्यान रखें कि इससे स्थिति को पैनिक बनाने या अफवाहों को शेयर करने की कोशिश कतई ना करें। इस ओर भी पुलिस का पूरा ध्यान है।

Next Story
Share it