Top
Action India

अलवर नगर परिषद कार्यवाहक आयुक्त ने लगाए सभापति पर मारपीट करने का आरोप

अलवर नगर परिषद कार्यवाहक आयुक्त ने लगाए सभापति पर मारपीट करने का आरोप
X

अलवर । Action India News

नगर परिषद अलवर में 20 अगस्त से शुरू होने वाली इंदिरा रसोई योजना शुरू होने से पहले ही भ्रष्टाचार के घेरे में आ गई। हालात इतने बदतर हो रहे है कि सभापति बिना गुप्ता पर कार्यवाहक आयुक्त कुमारसंभव अवस्थी ने अपने कक्ष में बने रूम में ले जाकर मारपीट करने के आरोप लगाए हैं। घटना के बाद नगर परिषद में अफरा तफरी का माहौल हो गया। घटना की सूचना पर कोतवाली थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची और अधिकारी से घटनाक्रम की जानकारी ली।

दअरसल 20 अगस्त से शुरू होने वाली इंदिरा रसोई योजना की एनआईटी को लेकर दोनों में विवाद हुआ। सभापति की ओर से कार्यवाहक आयुक्त पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए जा रहे हैं।
इस मामले में कार्यवाहक आयुक्त कुमारसंभव अवस्थी ने बताया कि वह सुबह 9:30 बजे अपने कक्ष में आए।

इंदिरा रसोई योजना के तहत राज्य सरकार की गाइडलाइन के अनुसार 20 अगस्त से शुरू करनी है। जिसे शुरू करने के लिए वह अधिकारियों के साथ मौका देखने गए व वापस लौटने पर सभापति द्वारा उन्हें तीन बार अपने कक्ष में बुलाया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि जब वह सभापति के कक्ष में गए तो कक्ष में बने कमरे में अंदर ले जाकर सभापति द्वारा उनसे हाथापाई की गई।

उस वक्त उनका बेटा भी कमरे में मौजूद था। उन्होंने आरोप लगाया कि आए दिन सभापति द्वारा अधिकारियों पर तरह-तरह के दबाव बनाकर कार्य करवाए जाते हैं। उन्होंने कहा कि जब तक नगर परिषद सभापति उनसे माफी नहीं मांगेंगे तब तक कोई कर्मचारी नगर परिषद में कार्य नहीं करेगा। इस मामले में उन्होंने जिला कलेक्टर को भी अवगत करा दिया है। इसके साथ ही वह जल्दी ही पुलिस में मामला दर्ज कराएंगे।

सभापति बिना गुप्ता ने कहा कि कार्यवाहक आयुक्त द्वारा इंदिरा रसोई योजना में भ्रष्टाचार किया जा रहा है। 16 रसोइयों का सामान खरीदने के लिए 64 लाख रुपए की एनआईटी शुक्रवार को अपलोड की जा रही थी। मुझसे साइन कराने आए तो मैंने मना कर दिया। क्योंकि मुझसे इस संबंध में आयुक्त ने कुछ पूछा ही नहीं ना ही मुझे कोई जानकारी दी गई। मैंने इस मामले से डीएम को भी अवगत करा दिया। मैंने अपने 25 पार्षदों की मीटिंग कर आयुक्त के भ्रष्टाचार की जानकारी दी। उनके भ्रष्टाचार को उजागर करने के कारण उन्हें गुस्सा आ गया और वह मारपीट का बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं।

वही पूरे मामले में भाजपा के पार्षद धीरज जैन ने बताया कि नगर परिषद में भ्रष्टाचार व मारपीट के कारण अधिकारियों में भय का माहौल है। कुछ दिनों पहले ही एक बाबू के साथ मारपीट की गई थी। सभापति एनआईटी ऑफलाइन चाहती हैं जबकि अधिकारी उसे ऑनलाइन करना चाहते हैं।

Next Story
Share it