Top
Action India

कानपुर में हिंसा मामले में एएमयू के पूर्व छात्रों की भूमिका की हो रही जांच

कानपुर में हिंसा मामले में एएमयू के पूर्व छात्रों की भूमिका की हो रही जांच
X

  • पीएफआई के सम्पर्क में थे कई छात्र, खुफिया जांच कर रही छात्रों की भूमिका

कानपुर। एएनएन (Action News Network)

उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में नागरिकता संशोधन एक्ट (सीएए) को लेकर प्रदर्शन के दौरान बीते दिनों हिंसा भड़काने के पीछे पीएफआई के बाद अब एएमयू कनेक्शन सामने आया है। जांच एजेंसियों के मुताबिक हिंसा भड़काने से पूर्व कई एएमयू के पूर्व छात्र पीएफआई के सम्पर्क में थे। पुलिस व खुफिया एजेंसियां जांच में जुट गई हैं।

सीएए को लेकर प्रदर्शन के दौरान बीते साल दिसम्बर माह में कानपुर जनपद की शांति व सौहार्द को बिगाड़ने की साजिश के पीछे पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) का हाथ होने के साक्ष्य मिले थे। जिले में हिंसा भड़काने की जांच में जुटी पुलिस व खुफिया एजेंसियों को अब एक ओर बड़ा सुराग हाथ लगा है। जांच में पता चला है कि पीएफआई ने हिंसा भड़काने में जहां फंडिंग कर सहयोग किया, बल्कि हिंसा करने के लिए अलीगढ़ मुस्लिम यूनीवर्सिटी (एएमयू) के पूर्व छात्रों का भी इस्तेमाल किया।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जांच में सामने आया है कि कई एएमयू के पूर्व छात्र पीएफआई के सम्पर्क में पूर्व से थे और उनके इशारे पर जनपद में अमन-चैन को खराब करने में उन्होंने अहम भूमिका निभाई। खुफिया एजेंसियां अब ऐसे छात्रों की कुंडली खंगालने में जुट गई हैं। जांच के बाद यह पता चलेगा कि हिंसा मामले में कौन-कौन छात्र पीएफआई के सम्पर्क में थे और किस प्रकार की गतिविधियों में लिप्त रहे हैं।

Next Story
Share it