Top
Action India

ब्रह्मपुत्र नदी से मिलीं अष्टधातु और पीतल की 37 मूर्तियां

ब्रह्मपुत्र नदी से मिलीं अष्टधातु और पीतल की 37 मूर्तियां
X

गुवाहाटी। एएनएन (Action News Network)

राजधानी के लतासील थानांतर्गत ब्रह्मपुत्र नदी के उमानंद घाट के किनारे से भारी मात्रा में पीतल व अष्टधातु धातु की देवी, देवताओं व भगवान बुद्ध की मूर्ति बरामद की गई हैं।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार उमानंद घाट किनारे स्थित त्रिशूल होटल का कर्मचारी सानू अली (45, सुनतली) शनिवार की दोपहर 12.30 बजे ब्रह्मपुत्र नदी में नहाने गया था। स्नान करने के दौरान उसके पैर में कुछ ठोस वस्तु से टकाराया। इसके बाद उसने डुबकी लगाकर देखा तो उसने कुछ भारी सामान को महसूस किया।

सानू अली ने हिम्मत करके उक्त वस्तु को डूबकी लगाकर पानी से जब बाहर निकाला तो वह हैरान हो गया। कारण पानी से उसे भगवान श्री कृष्ण की अष्टधातु से निर्मित मूर्ति मिली थी। मूर्ति निकाल कर बाहर लाया और अपने मालिक को सारी घटना से अवगत कराया। होटल के मालिक ने घटना की जानकारी लतासील पुलिस थाने को दी।

घटना की जानकारी मिलते ही लतासील पुलिस की टीम मौके पर पहुंचकर सानू अली और अन्य एक व्यक्ति की मदद से नदी में तलाशी अभियान चलाया। तलाशी के दौरान लगभग 37 मूर्तियां बरामद की गई हैं। जिसमें शिव, काली, सरस्वती, गणेश, दुर्गा, ब्रह्मा, बुद्ध आदि की मूर्तियां शामिल हैं।

पुलिस ने आशंका व्यक्त किया है कि राजधानी समेत आसपास के इलाके के मंदिरों से चुराई गई मूर्तियों को किसी ने नदी में फेंका है। सानू अली ने बताया कि आज से लगभग एक सप्ताह पहले रात के समय लगभग 08.30 बजे डीआई पर कुछ सामान लेकर 5 से 6 युवक पहुंचे। कार्टून में बांधकर लाए गए सामान को युवकों ने नदी में फेंकना शुरू कर दिया। सानू ने जब युवकों से पूछा कि पानी में क्या फेंक रहे हो तो, युवकों ने सानू को कहा कि बेकार के कुछ सामान हैं, जिसे हम लोग पानी में फेंक रहे हैं। पुलिस इस घटना के संबंध में एक प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

Next Story
Share it