Action India
अन्य राज्य

बलिया में उठी आवाज, 'अब चीन को उसकी औकात दिखाने का वक्त आ गया'

बलिया में उठी आवाज, अब चीन को उसकी औकात दिखाने का वक्त आ गया
X

  • छात्रनेताओं ने चीनी राष्ट्रपति का पुतला फूंक जताया विरोध

बलिया । एएनएन (Action News Network)

लद्दाख के गलवान घाटी में चीनी सैनिकों से झड़प में सेना के बीस जवानों के शहीद होने से लोगों में गुस्सा बढ़ता जा रहा है। गुरुवार को भी जिले में जगह-जगह चीन के राष्ट्रपति के पुतले जलाए गए।
शहर के कुंवर सिंह कालेज के सामने छात्रनेताओं ने अपना आक्रोश जाहिर करते हुए कहा कि चीनी सैनिकों ने हमारे जवानों को धोखे से मारा। यह विश्व शांति के नियमों और भारत-चीन समझौते का उल्लंघन है। बात करने के लिए बुलाना और पीछे से पीठ पर हमला करना किसी भी देश की सेना के लिए गौरव नहीं है।

कहा कि अब समय आ गया है कि चीन को उसकी औकात बतायी जाय। प्रधानमंत्री मोदी से अपील किया कि चीन के सामानों का सिर्फ बहिष्कार ही न कर अपितु पूर्ण प्रतिबंध लगाया जाए। यही शहीद सैनिकों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

छात्रनेताओं ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी विश्व को दिखाएं कि भारत एक शक्तिशाली राष्ट्र है। 46 दिनों से वार्ता हो रही थी, जो विफल साबित हुई। पीएम अब करारा जवाब देकर मजबूती का एहसास कराएं।

इसके बाद छात्रों ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग का पुतला जलाया। इस मौके पर गणेश यादव, विशाल यादव, शमशेर यादव, दीपक यादव, राजेन्द्र यादव, राहुल, पीयूष तिवारी आदि थे।

Next Story
Share it