Top
Action India

यूपी: 15 लाख की ऑनलाइन ठगी करने वाले बिहार के आठ ठग गिरफ्तार

  • डोमिनोज पिज्जा की ऑनलाइन एजेंसी दिलाने के लिए ठगे 15 लाख

  • तीन लाख की नकदी , 20 मोबाइल, 22 नए सिमकार्ड और बैंक पासबुक भी बरामद

भदोही। एएनएन (Action News Network)

उत्तर प्रदेश (उप्र) की भदोही पुलिस ने ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह के आठ सदस्यों को गुरुवार को भदोही रेलवे स्टेशन के पास से गिरफ्तार किया है। गिरोह के लोगों से पुलिस ने तीन लाख की नकदी समेत भारी मात्रा में मोबाइल, सिमकार्ड, पैन कार्ड और बैंकों की पासबुक के साथ चेकबुक भी बरामद की गई हैं। गिरफ्तार किए गए लोग बिहार के पटना के रहने वाले हैं। भदोही के व्यापारी से डोमिनोज पिज्जा की एजेंसी दिलाने के नाम पर ऑनलाइन 15 लाख रुपये की ठगी की थी।

पुलिस आधीक्षक आरबी सिंह ने बताया कि पकड़े गए साइबर अपराधियों का गिरोह पूरे देश में काम करता था। गिरोह के लोग डोमिनोज पिज्जा, हल्दीराम , एमआरएफ़ टायर और बजाज फाइनेंस जैसी नामी और ब्राण्डेड कम्पनियों का गूगल पर फर्जी लोगो लगाकर ठगी करते थे। सम्बन्धित कम्पनियों की एजेंसी के लिए भी विज्ञापन निकालते थे। साइबर अपराधी अपने फर्जी खाते में पैसा मंगाते थे और फर्जी एटीएम कार्ड का प्रयोग कर पैसा निकाल लेते थे। विज्ञापन में कम्पनियों का फर्जी कस्टम केयर नंबर भी देते थे। काम हो जाने पर प्रयोग किए गए सिमकार्ड को तोड़ देते थे। देश भर में यह ठिकाना बदल कर लोगों को निशाना बनाते थे। जिस शहर में रुकते वहां का फर्जी आधारकार्ड तैयार करवा लेते।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि भदोही शहर कोतवाली के मर्यादपट्टी निवासी लालजी जायसवाल को भी निशाना बनाया था। दुनिया की नामी पिज्जा कम्पनी डोमिनोज की एजेंसी देने के लिए ऑनलाइन विज्ञापन निकाला जिसमें लालजी फंस गया और एजेंसी लेने के लिए आहिस्ता- आहिस्ता 15 लाख रुपये का भुगतान भी कर दिया। लेकिन उसे एजेंसी नहीं मिल पाई। बाद में साइबर गिरोह के लोगों ने सिमकार्ड तोड़कर फेंक दिया। इसके बाद भुक्तभोगी ने भदोही कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया। मामला गम्भीर होने पर पुलिस अधीक्षक भदोही ने सीओ भदोही के नेतृत्व में टीम गठित कर क्राइमब्रांच को लगाया। पुलिस ने किसी तरह साइबर अपराधियों की लोकेशन को ट्रेस कर गुरुवार को भदोही रेलवे स्टेशन के करीब से इस गिरोह के आठ सदस्यों को गिरफ्तार किया गया। -

आरोपितों के नाम

गिरफ्तार किए गए आरोपितों में निक्कू कुमार, अमित कुमार, जीसू , पटेल जगदीशपुर, थाना भसौढीं, चंदन कुमार बेऊर हसनपुर, सनीकुमार, वरैयपुर, पुनपुन, सुजीत कुमार, भगवानपुर, राहुल कुमार, धनीच, मनीष कुमार , पोआवां, थाना भसौढीं, पटना बिहार के रहने वाले हैं।

आरोपितों से ये हुआ बरामद

ने इनके पास से तीन लाख की नकदी के साथ, 20 मोबाइल, 22 नए मोबाइल सिमकार्ड , चार चेकबुक , तीन पासबुक, दो लैपटॉप, एक वाईफाई कनेक्टर, दो आधारकार्ड, दो पैनकार्ड, दो ड्राइविंग लाउसेंस, एक मेट्रोकार्ड, दो रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट और सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की पासबुक बरामद किया है। इन आरोपितों ने बताया कि भदोही कालीन कारोबार के लिए दुनिया में विख्यात है। यहां पैसा बहुत है इसलिए इस शहर को निशाना बनाया गया लेकिन यहां उनकी ठगी पकड़ी गई। पुलिस ने सभी आठ के खिलाफ़ साइबर और फ्राड का मुकदमा दर्ज करने के बाद जेल भेज दिया है।

Next Story
Share it