Top
Action India

भाजपा सांसद ने राज्य सरकार को लिखा पत्र, मजदूरों की वापसी पर सतर्कता बरतने का आह्वान

भाजपा सांसद ने राज्य सरकार को लिखा पत्र, मजदूरों की वापसी पर सतर्कता बरतने का आह्वान
X

रायपुर । एएनएन (Action News Network)

महासमुंद से भाजपा सांसद चुन्नीलाल साहू ने कलेक्टर के जरिए राज्य सरकार को भेजे पत्र में दूसरे राज्यों में काम करने गए छत्तीसगढ़ के मजदूरों की वापसी पर सतर्कता बरतने का आह्वान किया है। उन्होंने बताया है कि दीवाली के पहले और खरीफ का काम निपटाने के बाद छत्तीसगढ़ के महासमुंद लोकसभा क्षेत्र से ही 32 हजार 788 मजदूर उत्तरप्रदेश और देश के दूसरे हिस्सों में काम करने चले गए हैं। जिन स्थानों में छत्तीसगढ़ के मजदूर गए हैं, वहां लॉकडाउन की वजह से काम बंद हैं। साहू ने कहा है कि ऐसे प्रवासी मजदूर हर साल मई के महीने से छत्तीसगढ़ स्थित अपने गांव लौटने लगते हैं। चूंकि उन स्थानों में काम बंद है, इसलिए यह मजदूर लॉकडाउन खत्म होते ही वहां के शिविरों से छत्तीसगढ़ की राह पकड़ेंगे। ऐसे में आशंकित संक्रमण का खतरा राज्य में बढ़ेगा, इससे सतर्क रहने की आवश्यकता है।

सरकार को बुधवार को लिखे पत्र में सांसद चुन्नीलाल साहू ने राज्य सरकार को सुझाव दिया है कि ऐसे मजदूरों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए पहले से ही हमें तैयार रहना चाहिए। उन्होंने बताया कि महासमुंद जिले के बागबाहरा जनपद से 11 हजार 439 और पिथौरा जनपद क्षेत्र के गांवों से 11 हजार 124 मजदूर उत्तरप्रदेश के ईंट भट्ठों में काम करने गए हैं। इसी प्रकार महासमुंद जनपद के गांवों से 3 हजार 969, बसना से 4 हजार 735 और सरायपाली से 1 हजार 521 मजदूर देश के दूसरे हिस्सों में काम करने गए हैं। उनके लौटते ही कोरोना से जुड़ी कई प्रकार की आशंकाएं होंगी, जिनके कारण क्षेत्र में भय का वातावरण बन सकता है। क्षेत्र को भयमुक्त करने के लिए राज्य की सरकार को गंभीर होने की आवश्यकता है और मजदूरों का स्वास्थ्य परीक्षण करने के लिए पृथक से व्यवस्था की जानी चाहिए। राज्य सरकार को सांसद ने यह भी बताया है कि कोरोना से अधिक प्रभावित राज्यों में भी छत्तीसगढ़ और खासकर महासमुंद लोकसभा क्षेत्र के गांवों से मजदूर काम करने गए हैं।

Next Story
Share it