Top
Action India

दंगा को प्रोत्साहन देने वाली पार्टी को नहीं दिखेगा विकास: भाजपा

दंगा को प्रोत्साहन देने वाली पार्टी को नहीं दिखेगा विकास: भाजपा
X

लखनऊ। एएनएन (Action News Network)

जिस पार्टी का काम ही दंगा को प्रोत्साहन देना हो, उसे विकास नहीं दिख सकता। उसे तो सिर्फ यह दिख रहा है कि भाजपा के शासन काल में इतनी शांति कैसे है। दंगों पर रोक कैसे लग गया। वह सिर्फ दंगों को उकसाने में लगी है। विरोध के लिए विरोध उसका स्वभाव बन गया है। इस कारण भाजपा का विरोध करते-करते आज राष्ट्र का भी विरोधी बन गयी है। ये बातें भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने सोमवार को कही।

वे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा रविवार को दिये गये बयान 'भाजपा सरकार ने तीन साल में प्रदेश में कोई काम नहीं किया। सिर्फ हमारे काम पर अपना नाम लिखवा रहे।' का जवाब दे रहे थे। उन्होंने 'हिन्दुस्थान समाचार' से कहा कि सपा के शासन काल में सिर्फ माफिया व तस्कर का ही बोल-बाला रहता है। उसके मंत्री भी जमीनों पर कब्जा करने में जुट जाते हैं। लोगों को जबरदस्ती प्रताड़ित कर उन्हें खुद की जमीन से बेदखल कर देते हैं।

ऐसे में जब भाजपा सरकार ने माफियाओं पर कार्रवाई करना शुरू किया तो सपा अध्यक्ष तड़फड़ा उठे और उनकी तड़फड़ाहट इतनी बढ़ गयी कि वे राष्ट्र विरोध पर भी उतारू हो गये। मनीष शुक्ला ने कहा कि यहां जनता सब देख और समझ रही है। यूपी के आगामी विधानसभा चुनाव में सपा की पिछले चुनाव से भी कम सीटें आने वाली हैं। वे दहाई के अंक से आगे नहीं बढ़ सकते। भाजपा के शासन काल में हर व्यक्ति संतुष्ट है। जहां सपा के शासन काल में प्राथमिक विद्यालय सिर्फ मिड-डे-मिल के भोजन तक सीमित रह गये थे।

उन प्राथमिक विद्यालयों में आज बेहतर पठन-पाठन का माहौल है। पूरब से लेकर पश्चिम तक सड़कों का जाल बिछ रहा है। किसानों को त्वरित आपदा सहायता मिल रही है, जबकि सपा के कार्यकाल में सिर्फ कागजों में खानापूर्ति कर आपदा राहत कोष का पैसा हड़प लिया जाता था। मनीष शुक्ला ने कहा कि यह भी एक हास्यास्पद बयान है कि जिसके शासन काल में एक हजार सांप्रदायिक दंगे हुए हों, उसको आज शांति के माहौल में दंगा दिखाई दे रहा है।

उन्होंने कहा कि सपा में कैसे लोगों को तवज्जो दी जाती है, इसका ताजा उदाहरण एमएलसी कमलेश पाठक की हत्या के आरोप में गिरफ्तारी खुद बयां कर रही है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि यहां आज अंतिम पायदान तक सरकारी योजनाएं पहुंच रही हैं। भ्रष्ट लोगों को लगातार सजा मिल रही है। जनहित के कामों के लिए लगातार समीक्षा की जा रही है। आपदा के समय मंत्री खुद किसानों के खेतों का निरीक्षण कर उनको सहायता की उपलब्धता सुनिश्चित कर रहे हैं। अभी ओले गिरने से हुई फसल के नुकसान का आकलन करने के लिए पूरी टीम लगा दी गयी और त्वरित गति से किसानों को सहायता दी जा रही है।

Next Story
Share it