Top
Action India

पलटवार: भाजपाईयों ने 'सम्राट' साईकिल की जमीन लौटाने का मांग पत्र कांग्रेस दफ्तर पर चस्पा किया

पलटवार: भाजपाईयों ने सम्राट साईकिल की जमीन लौटाने का मांग पत्र कांग्रेस दफ्तर पर चस्पा किया
X

  • शुक्रवार को कांग्रेसियों ने किसानो की मांगो को लेकर स्मृति ईरानी के आवास पर चस्पा किया था मांग पत्र

अमेठी। एएनएन (Action News Network)

प्रदेश कांग्रेस के आह्वान पर किसानों की मांगों को लेकर कांग्रेसियों द्वारा केंद्रीय मंत्री एवं अमेठी सांसद स्मृति ईरानी के अमेठी स्थित आवास पर शुक्रवार को ज्ञापन चस्पा करना महंगा पड़ गया है

बुधवार को भाजपाईयों ने कांग्रेसियों के इस कदम पर पलटवार करते हुए गौरीगंज स्थित कांग्रेस दफ्तर पर एक मांग पत्र चस्पा किया है। भाजपाईयों ने राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा सम्राट साईकिल कारखाने की जमीन को किसानों को वापस करने की मांग उठाई है। कांग्रेस दफ्तर पर भाजपाईयों द्वारा लगाए गए मांग पत्र पर स्पष्ट तौर लिखा गया है कि कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने सम्राट साईकिल की जमीन छल पूर्वक हड़प लिया था।

भाजपाईयों ने कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रदीप सिंघल को संबोधित मांग पत्र में ये मुद्दा उठाया है कि उस जमीन को अमेठी के किसानों को वापस दिलवाए। गांधी परिवार पर बड़ा हमला करते हुए बीजेपी के कार्यकर्ताओ ने मांग पत्र में लिखा है कि गांधी परिवार के तीनों नेताओं का अमेठी स्थाई और अस्थाई ठिकाना नहीं है, इसलिए आपको अवगत कराना पड़ रहा है कि खुद को किसानों का मसीहा बताने का ढोंग आपके नेता बंद करें। चूंकि आपके राष्ट्रीय नेताओं ने सम्राट साईकिल की व्यवसायिक जमीन को अपने निजी ट्रस्ट के नाम पर लूटकर स्वयं बेनकाब हो चुके हैं। हालांकि मांग पत्र चस्पा करने कांग्रेस दफ्तर पहुंचे किसान और भाजपाईयों की कांग्रेसियों से तीखी झड़प हुई। जिसे पुलिस ने शांत कराया।

इस मामले पर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष प्रदीप सिंघल ने बताया कि हम लोग कार्यालय में मीटिंग कर रहे थे। अचानक कुछ लोग भाजपा का झंडा लेकर कांग्रेस कार्यालय का गेट तोड़कर अंदर आ गए। इस पर हमलोग बाहर निकले तो वो लोग हम लोगों को देखकर भाग निकले। उन्होंने इस मामले को प्रशासन और भाजपा कार्यकर्ताओं की मिलीभगत का आरोप लगाया है।

गौरतलब है कि बीते शुक्रवार को कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रदीप सिंघल के नेतृत्व में किसान जन जागरण कार्यक्रम के तहत सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने स्थानीय सांसद स्मृति ईरानी के आवास पर ज्ञापन चस्पा किया था। कांग्रेसियों ने यहां पर लापता सांसद मुर्दाबाद के नारे लगाए थे। स्मृति ईरानी के नाम से चस्पा हुए इस ज्ञापन में कांग्रेसियों ने लिखा है कि प्रदेश में किसानों की स्थिति अत्यन्त खराब है। विभिन्न समस्याओं के चलते किसान खून के आंसू रो रहे हैं, उनको राहत नहीं मिल रही है।

Next Story
Share it