Action India
झारखंड

अपने-अपने अनुमंडल व प्रखंड क्षेत्र में रखे मास्क व सैनिटाइजर के कालाबाजारी पर नजर : उपायुक्त

अपने-अपने अनुमंडल व प्रखंड क्षेत्र में रखे मास्क व सैनिटाइजर के कालाबाजारी पर नजर : उपायुक्त
X

देवघर। एएनएन (Action News Network)

कोरोना वायरस को लेकर बाजार में मास्क और सैनिटाइजर की बिक्री में काफी इजाफा हुआ है। ऐसे में इन सामानों की कालाबाजारी होने एवं मास्क व सैनिटाइजर के निर्धारित मूल्य से दोगुनी-तिगुनी राशि वसूलने संबंधी शिकायत मिलने पर उपायुक्त नैंसी सहाय ने त्वरित कार्रवाई करते हुए देवघर के अंचलाधिकारी अनिल कुमार को जांच दल गठित कर उक्त मामले की जांच कर प्रतिवेदित करने का निर्देश दिया गया था।

इस आलोक में अंचलाधिकारी द्वारा टीम गठित कर उक्त मामले की जांच की गयी तो पाया गया कि शिकायतकर्ता द्वारा लगाया गया आरोप सही है। संबंधित दवा दुकान के द्वारा मास्क की कालाबाजारी की जा रही है और ग्राहकों से मनमाने ढंग से निर्धारित मूल्य से अधिक राशि वसूली जा रही है। बाजार में 20-25 रुपये के दामों में मिलने वाले मास्क को 175 रुपये की कीमत में बेची जा रही थी।

इस पर उपायुक्त के निर्देशानुसार आगे की कार्रवाई करते हुए दोषी पाए गए दवा विक्रेता पर कार्रवाई करते हुए सदर अस्पताल के समीप स्थित उसके दवाई दुकान औषधालय मेडिकल दुकान को सील कर दिया गया। साथ ही निर्देश दिया गया कि कोई भी दवा दुकान/ विक्रेता आवश्यक सामग्री के रूप में परिभाषित मास्क, प्लाई एवम प्लाई सर्जिकल मास्क, एन 95 मास्क और हैण्ड सैनिटाइजर की कालाबाजारी नहीं करेंगे। फिर भी यदि ऐसा करते हुए पाया जाता है तो उनके विरुद्ध विधिसम्मत कार्रवाई की जाएगी।

उपायुक्त ने अनुमंडल पदाधिकारी, देवघर व मधुपुर के साथ-साथ सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी को निदेशित किया गया कि वे पूरी तरह से सतर्क रह कर अपने-अपने क्षेत्रों में नजर बनाए रखे, ताकि इन सामानों के कालाबाजारी करने वाले लोगों पर अंकुश लगाया जा सके एवं लोगों के लिए ये सामान बाजार में निर्धारित मूल्य पर आसानी से उपलब्ध हो।

Next Story
Share it