Top
Action India

भारतीय मजदूर संघ की अवध प्रांत इकाई ने मजदूरों की सेवा में दिखाई तत्परता, आगे भी करेंगे सहायता

भारतीय मजदूर संघ की अवध प्रांत इकाई ने मजदूरों की सेवा में दिखाई तत्परता, आगे भी करेंगे सहायता
X

लखनऊ । एएनएन (Action News Network)

भारतीय मजदूर संघ की अवध प्रांत इकाई के कार्यकर्ताओं ने लॉकडाउन में मजदूरों की सेवा कार्य में तत्परता दिखाई है और वे मजदूरों की सहायता के लिए आगे भी तैयार हैं। बीते दिनों भारतीय मजदूर संघ के कार्यकर्ताओं की सेवा पर नजर डालें तो सामने आता है कि लखनऊ में अहियामऊ चौराहे पर मजदूरों को सौ पैकेट भोजन बांटते हरिशरण मिश्र मिले। राजाजीपुरम नाले की किनारे बसे असहाय लोगों को लगभग सौ पैकेट भोजन जयनारायण तिवारी ने बांटा। वही महेंद्र दीक्षित तो कम्युनिटी किचन में ही डट गए हैं और एक सप्ताह से वहां से बटने वाले भोजन को मजदूरों में बाँट रहे हैं।

सीतापुर जिला में बीपी यादव एवं आर्य ने खुद के प्रयास से सौ पैकेट बनवाया और मजदूरों में वितरण कराया। उन्नाव जिला में राजेश बाजपेयी तो लॉकडाउन लगने के बाद से ही सेवा कार्य किया है, उन्होंने 30 मार्च से 7 अप्रैल तक तालिब रॉय सराय मोहल्ले में दो हजार मास्क का वितरण किया और मोहल्ले को सेनेटाइज किया। 4 अप्रैल के बाद वह बाहर से आने वाले मजदूरों के भोजन की व्यवस्था में जुट गए। इसमें उन्होंने राशन वितरण भी किया। रायबरेली जिला में भारतीय मजदूर संघ के सक्रिय सदस्य आरबी सिंह ने सेवा भारती की टोली में शामिल होकर भोजन वितरण कार्य को किया। इसी तरह रायबरेली में ही मार्डन रेल कोच फैक्ट्री में आदर्श सिंह बघेल और सुशील गुप्ता ने कारखाना परिसर में मास्क वितरण किया और 50 के करीब ट्रक ड्राइवर को भोजन वितरण कराया।

इसी तरह से हरदोई और फैजाबाद में कुछ सक्रियता रही है। बता दें कि मजदूरों के हित में भारतीय मजदूर संघ स्थापना के बाद से ही कार्य कर रहा है। लॉकडाउन में मजदूरों के लिये संगठन पदाधिकारी दिनरात राहत कार्य में जुटे हुए हैं। बीएमएस अवध प्रान्त के संगठन मंत्री जगदीश वाजपेयी ने हिन्दुस्थान समाचार से कहा ​कि इस कोरोना महामारी से पूरा देश प्रभावित है, लेकिन जिनके रोज कमाने से जीवकोपार्जन चलता है उनके सामने सबसे बड़ा संकट है। ऐसे समय में उन्हें किसी प्रकार की दिक्कत न हो, इसके लिए सम्पूण देश में भारतीय मजदूर संघ की इकाई समाज के बल पर दिन-रात सेवा कार्य में जुटी है।

Next Story
Share it