Top
Action India

लगातार दूसरे दिन लुढ़का शेयर बाजार, 2 दिन में सेंसेक्स 1611 अंक फिसला

लगातार दूसरे दिन लुढ़का शेयर बाजार, 2 दिन में सेंसेक्स 1611 अंक फिसला
X

नई दिल्ली। एक्शन इंडिया न्यूज़

भारतीय शेयर बाजार में आज लगातार दूसरे दिन बिकवाली का दबाव बना रहा। जिसके कारण शेयर बाजार में दिन भर गिरावट का रुख देखा गया बिकवाली के दबाव के कारण ही बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सूचकांक सेंसेक्स 1.51 फीसदी टूटकर 740.19 अंक नीचे गिर गया और 48440.12 के स्तर पर बंद हुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के सूचकांक निफ्टी में भी 224.5 अंकों की गिरावट देखी गई और ये 1.54 फ़ीसदी की गिरावट के साथ 14324.9 के स्तर पर बंद हुआ। पिछले 2 दिन से लगातार हो रही बिकवाली के कारण सेंसेक्स में 1611.32 अंको की और निफ्टी में 489.85 अंकों की गिरावट हो चुकी है। ‌आज शेयर बाजार की शुरुआत गिरावट के साथ ही शुरू हुई।

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 57.07 अंकों की गिरावट के साथ 49123.24 के स्तर पर खुला था।

वहीं निफ्टी की शुरुआत 30.85 अंकों की गिरावट के साथ 14518.55 अंक के स्तर पर हुई थी आज शुरुआती कारोबार में 518 शेयरों में तेजी का रुख बना, वही 1060 शेयरों में गिरावट का रुख रहा।

जबकि 65 शेयरों के मूल्य में कोई बदलाव नहीं हुआ। लेकिन इसके बाद दिन भर के कारोबार में बाजार में गिरावट का रुख बना रहा।

अगर आज के कारोबार में दिग्गज शेयरों की बात करें तो एचडीएफसी, डॉ रेड्डीज लैब, एल एन्ड टी, आईसीआईसीआई बैंक और टाटा स्टील बढ़त बनाते हुए हरे निशान पर बंद हुए।

वही हिंदुस्तान यूनिलीवर, आइओसी, भारती एयरटेल, मारुति और कोल इंडिया के शेयर बिकवाली के दबाव में लाल निशान पर बंद हुए। शेयर बाजार के सेक्टोरियल इंडेक्स पर नजर डालें, तो मेटल सेक्टर के अलावा आज सभी सेक्टर लाल निशान के साथ बंद हुए।

इनमें पीएसयू बैंक, प्राइवेट बैंक, फाइनेंस सर्विसेज, रियल्टी, ऑटो सेक्टर, एफएमसीजी और मीडिया सेक्टर के शेयर शामिल हैं। आज की गिरावट के लिए भी जानकार वैश्विक बाजार में उतार-चढ़ाव और कोरोना संक्रमण को ही जिम्मेदार बता रहे हैं।

आज वैश्विक बाजार में नैस्डेक इंडेक्स 265 अंक गिरकर बंद हुआ. तो डाऊ जोंस भी 3 अंकों की मामूली गिरावट के साथ बंद हुआ। एस एंड पी 500 इंडेक्स 21 अंक नीचे रहा तो हेंगसेंग इंडेक्स में 52 अंकों की गिरावट देखी गई।

चीन के शंघाई कंपोजिट ने 3366 अंक के स्तर पर सपाट कारोबार किया जबकि जापान के निक्केई इंडेक्स, कोरिया के कोस्पी इंडेक्स और ऑस्ट्रेलिया के ऑल ऑर्डिनरीज में मामूली बढ़त बनी रही। लेकिन ओवरऑल ग्लोबल ट्रेड की बात की जाए तो दुनिया के ज्यादातर शेयर बाजार में गिरावट का रुख बना रहा।

जानकारों का कहना है कि वैश्विक बाजार के दबाव के साथ ही भारत में कोरोना के नए दौर ने भी निवेशकों की चिंता बढ़ा दी है।

खासकर महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण में आई तेजी से निवेशक घबराए हुए हैं। भारत में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण के 53476 नए मामले सामने आ चुके हैं। इससे पूरे कारोबार जगत में डर का माहौल बना हुआ है।

जानकारों के मुताबिक अगर वैश्विक बाजार के हालात नहीं सुधरे तो कल सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन भी भारतीय शेयर बाजार में बिकवाली का दौर बना रह सकता है।

लेकिन अगर वैश्विक बाजारों से थोड़ा भी सपोर्ट मिला. तो भारतीय शेयर बाजार में एक बार फिर मामूली तेजी दिख सकती है।

Next Story
Share it