Action India

बीडब्लयूएफ ने टोक्यो ओलंपिक की योग्यता अवधि बढ़ाई

बीडब्लयूएफ ने टोक्यो ओलंपिक की योग्यता अवधि बढ़ाई
X

नई दिल्ली । एएनएन (Action News Network)

बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन (बीडब्लयूएफ) ने टोक्यो ओलंपिक योग्यता अवधि को बढ़ा दिया है।
बीडब्ल्यूएफ ने घोषणा की है कि पिछले सप्ताह अनावरण किए गए 2020 कैलेंडर को टोक्यो ओलंपिक क्वालीफायर में नहीं गिना जाएगा। इसके बजाय अगले साल की शुरुआत में एक विस्तारित क्वालीफायर अवधि शुरू की जाएगी जिसमें कोरोनावायरस के कारण स्थगित या रद्द किए गए टूर्नामेंटों को शामिल किया जाएगा। यह निर्णय खिलाड़ियों की भारी आलोचना के बाद लिया गया।

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने के लिए सभी खिलाड़ियों को अपनी - अपनी श्रेणियों में कम से कम तीन टूर्नामेंट खेलने होंगे, जोकि टोक्यो रैंकिंग लिस्ट में गिने जाएंगे। कोरोनावायरस से पहले एक साल की योग्यता अवधि 29 अप्रैल, 2019 से शुरू हो कर 15 मार्च, 2020 तक चली थी, जबकि अब विस्तारित अवधि 4 जनवरी, 2021 से शुरू हो कर 2 मई, 2021 तक चलेगी। टोक्यो रैंकिंग 4 मई, 2021 तक अंतिम मानी जाएगी और इसी के आधार पर खिलाड़ियों को ओलंपिक कोटा हासिल होगा।

उल्लेखनीय है कि, मूल ओलंपिक योग्यता अवधि के दौरान खिलाड़ियों ने जो रैंकिंग प्वाइंट अर्जित किए थे वे बरकरार रहेंगे और उनको टोक्यो ओलंपिक की क्वालीफायर अवधि में लगाया जाएगा।
बीडब्लयूएफ के सेक्रेटरी जनरल थॉमस लुंड ने कहा, "हम 2020 के अंत तक अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों को फिर से शुरू करने का प्रयास करेंगे। हमने ओलंपिक और पैरालंपिक योग्यता प्रक्रिया को फिर से शुरू करने के लिए साल 2021 को चुना है, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि यात्रा प्रतिबंध और कोरोनावायरस के अन्य संबंधित प्रभाव सीमित रहें।"

केवल चीन और हांगकांग के खिलाड़ी, जो इस साल कोरोनावायरस यात्रा प्रतिबंधों के चलते बैडमिंटन एशिया टीम चैम्पियनशिप में भाग नहीं ले सके थे, उनको ही 2021 संस्करण में अंक अर्जित करने का मौका दिया जाएगा।

Next Story
Share it